आईडीसीपीसी नेता और श्रीलंकाई सत्तारुढ़ पार्टी के नेताओं के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंस

2020-08-27 11:34:49
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति के विदेशी संपर्क विभाग (आईडीसीपीसी) के प्रधान सोंग थाओ ने 26 अगस्त को श्रीलंकाई सत्तारूढ़ पार्टी पीपुल्स फ्रंट के संस्थापक एवं राष्ट्रीय संगठक बासिल राजपक्षे, पार्टी के अध्यक्ष और शिक्षा मंत्री जी.एल. पेइरिस तथा पार्टी के महासचिव सागर कार्यावासम के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस की।

सोंग थाओ ने श्रीलंका के राष्ट्रीय चुनाव में पीपुल्स फ्रंट पार्टी के विजय होने पर बधाई दी और इस पार्टी द्वारा चीन-श्रीलंका संबंध के विकास को आगे बढ़ाने में दिए गए योगदान का सक्रिय मूल्यांकन किया। उन्होंने कहा कि चीन और श्रीलंका ईमानदारी से एक दूसरे की सहायता करते हैं, दोनों देशों के बीच पीढ़ी दर पीढ़ी की मैत्री का इतिहास बहुत पुराना है। गत मई में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव शी चिनफिंग ने श्रीलंकाई राष्ट्रपति गोटाभाया राजपक्षे के साथ फोन पर बातचीत की, दोनों नेताओं ने नए युग में द्विपक्षीय संबंधों के विकास को रास्ता दिखाया। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी श्रीलंकाई पीपुल्स फ्रंट पार्टी के साथ मिलकर दोनों देशों के शीर्ष नेताओं द्वारा संपन्न महत्वपूर्ण आम सहमतियों का अच्छी तरह कार्यान्वयन करने, द्विपक्षीय पार्टियों के बीच आवाजाही की नेतृत्वकारी भूमिका निभाना, “बेल्ट एंड रोड” सह-निर्माण को आगे बढ़ाने आदि क्षेत्रों में सहयोग करना चाहता है, ताकि दोनों देशों की जनता को ज्यादा लाभ मिल सके।  

श्रीलंकाई पीपुल्स फ्रंट पार्टी के नेताओं ने कहा कि श्रीलंका और चीन आपसी समर्थन वाले अच्छे दोस्त और अच्छे साथी हैं। श्रीलंका में आर्थिक सामाजिक विकास और कोविड-19 महामारी के मुकाबले में चीन ने समर्थन किया और सहायता दी। श्रीलंका चीन का आभारी है। पीपुल्स फ्रंट पार्टी चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के साथ मिलकर पार्टियों के बीच आवाजाही को मजबूत करते हुए दोनों देशों के बीच आपसी विश्वास और दोनों देशों की जनता के बीच मैत्री को लगातार आगे बढ़ाना चाहती है, ताकि श्रीलंका-चीन संबंध के नए विकास को आगे बढ़ाया जा सके।

(श्याओ थांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories