डेशेन गांव में उगाया जा रहा है आलू

2020-08-17 16:26:35
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/4

पूर्वी चीन के हपेई प्रांत में डेशेन नाम का एक गांव है। कई साल पहले यह गांव बहुत गरीब था। यहां तक कि बाहर की लड़कियां इस गांव के लड़कों के साथ शादी नहीं करना चाहती थीं। और गांव के युवकों ने भी बाहर जाने की बड़ी कोशिश की। लेकिन वर्तमान में डेशेन गांव बिल्कुल बदल गया है।

तीन साल पहले चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय कमेटी के महासचिव शी चिनफिंग ने डेशेन गांव का दौरा किया। वहां उन्होंने स्थानीय गरीब जनता के जीवन स्तर को देखा, और गांव के अधिकारियों व जनता के साथ एक बैठक आयोजित की। बैठक में शी चिनफिंग ने भविष्य में इस गांव के लिये गरीबी को दूर करने की योजना बनायी।

गौरतलब है कि डेशेन गांव का मुख्य उद्योग आलू रोपण उद्योग है। लेकिन अधिकतर आलू कमोडिटी आलू हैं, जिनकी कीमत बहुत कम है। इसलिये जनता को ज्यादा लाभ नहीं मिल सका। इस के प्रति शी चिनफिंग ने बल देकर कहा कि गरीबी को दूर करने के लिये केवल उद्योग होना काफ़ी नहीं है। जनता की सक्रियता को बढ़ाना चाहिये, ताकि वे अपनी इच्छा से गरीबी दूर करने के कार्य में भाग ले सकें।

महासचिव के प्रोत्साहन से डेशेन गांव के सभी अधिकारियों के नेतृत्व में जनता ने सक्रिय रूप से इस बारे में प्रतिक्रिया की। तीन साल की पूरी कोशिश के बाद डेशेन गांव के आलू को न सिर्फ़ ट्रेडमार्क मिला है, बल्कि उसे राष्ट्रीय ग्रीन प्रमाणन भी प्राप्त हुआ है। छोटे छोटे आलू से सचमुच एक बड़ा उद्योग बन गया है।

चंद्रिमा

शेयर