चीनी ग्रामवासी बने शेयरहोल्डर्स

2020-06-30 11:45:59
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

याज़ा गांव चीन के कानसू प्रांत के गान्नन तिब्बती स्वायत्त स्टेट की लिनथान काऊंटी के बाजाओ कस्बे में स्थित है। गांव के पीछे पहाड़ हैं, और गांव के आगे एक नदी बहती है। हाल के कई वर्षों में काउंटी सरकार के समर्थन के तले याज़ा गांव ने सुन्दर प्राकृतिक दृश्य और सुविधाजनक यातायात से लाभ उठाकर पर्यटन व्यवसाय का बड़ा विकास किया। साथ ही सड़क के किनारे पर स्थित सभी दुकानों व आवासों का सुधार किया गया। इस के आधार पर ग्रामवासी फार्महाउस पर्यटन करने में बहुत व्यस्त हैं।

जब संवाददाता ने एक फार्महाउस में प्रवेश किया, तो दीवार पर एक बड़ा चित्र उनकी नज़र में आया। चित्र में एक किसान अच्छी फसल वाले खेत में काम कर रहे हैं। उन के हाथों में सुनहरे गेहूं हैं। और मुंह में मुस्कुराहट दिखती है। कुछ समय के बाद इस फार्महाउस के मालिक ली हाईफ़ंग आये, तो संवाददाता को पता लगा कि चित्र में वह किसान तो ली हाईफ़ंग हैं।

ली हाईफ़ंग के अनुसार वे अपने गांव में फार्महाउस पर्यटन करने वाले पहले व्यक्ति हैं। याज़ा गांव पहले यहां स्थित नहीं था, जो दूर पहाड़ में स्थित था। वहां का यातायात बहुत खराब था, यहां तक कि नल का पानी भी नहीं पहुंचा था। गांववासी परंपरागत जीवन बिताते थे, और बहुत कम आय प्राप्त करते थे।

वर्ष 2015 में याज़ा गांव सरकार की मदद से स्थानांतरित किया गया। वह दूर-दराज़ पहाड़ से निकलकर आज के हाइवे के पास स्थित है। जिससे असुविधाजनक यातायात की समस्या हल की गयी।

फिर ग्रामवासियों की आय को उन्नत करने के लिये हाल के कई वर्षों में स्थानीय सरकार ने दर्शनीय स्थलों के निर्माण के साथ अपने क्षेत्र की श्रेष्ठता से लाभ उठाकर ग्रामीण पर्यटन से स्थानीय आर्थिक विकास को बढ़ावा दिया। अब याज़ा गांव में 25 ग्रामवासियों ने फार्महाउस पर्यटन किया है। सरकार ने फार्महाउस के संचालन के लिये उन्हें ब्याज़ मुक्त ऋण देने समेत बड़ी सहायता दी। जिससे स्थानांतरित ग्रामवासी फार्महाउस के शेयरहोल्डर्स बन गये।

चंद्रिमा

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories