चीन-अफ्रीकी देशों के संबंधों में कलह पैदा करने की बुरी मंशा जरूर असफल होगी : चीन

2020-06-29 20:25:39
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अफ्रीका चीन के साझे भाग्य वाला अच्छा भाई है। कोविड-19 महामारी के सामने दोनों पक्ष नाजुक समय में सहयोग कर रहे हैं। चीन-अफ्रीकी देशों के संबंधों में कलह पैदा करने की बुरी मंशा जरूर असफल होगी। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता चाओ लीच्येन ने 29 जून को पेइचिंग में यह बात कही। 

रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी विदेश मंत्री माइकल पोम्पेओ ने 24 जून को बयान जारी कर चीन-अफ्रीका एक होकर महामारी-रोधी शिखर सम्मेलन में चीन द्वारा दिए गए वचनों पर आरोप लगाया और कहा कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने विश्व के सामने महामारी की सच्चाई छिपायी, जिससे अफ्रीकी देशों पर गैर-सतत ऋण बोझ पैदा हुआ।

चीनी प्रवक्ता चाओ ने कहा कि पोम्पेओ का ब्यान तथ्यों की अनदेखी कर चीन पर बेवजह आरोप लगाया है। चीन ने इसका दृढ़ता से विरोध किया है। कोविड-19 महामारी के प्रकोप के बाद से लेकर अब तक चीन हमेशा से खुले, पारदर्शी, जिम्मेदार रूख अपनाते हुए ठीक समय पर विश्व स्वास्थ्य संगठन और अमेरिका समेत संबंधित देशों व क्षेत्रों को महामारी की सूचना दी, वायरस जीनोम साझा किया। चीन ने विभिन्न पक्षों की चिंता का ख्याल करते हुए सहयोग मजबूत किया। चीन ने सारी दुनिया में महामारी के मुकाबले में समय जीता और सक्रिय योगदान दिया।

चीनी प्रवक्ता ने आशा जतायी कि अमेरिका अपने देश में महामारी के मुकाबले में कोशिश करेगा, महामारी की रोकथाम और नियंत्रण पर अंतरराष्ट्रीय सहयोग के लिए वास्तविक काम करेगा, न कि दूसरे देश द्वारा महामारी के मुकाबले में की गई कोशिशों को बदनाम करना और राजनीतिक वायरस फैलाना।

(श्याओ थांग) 

 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories