चीन के स्छ्वान प्रांत में कगार गांव का विकास

2020-05-29 13:53:30
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

दक्षिण-पश्चिमी चीन के स्छ्वान प्रांत के ताल्यांगशान पहाड़ी क्षेत्र में आतुल्यअर गांव स्थित है, जो खड़ी चट्टान के बीच में है। गांववासियों को आने-जाने में सीधी कगार से गुजरना पड़ता था, जो ऊपर से नीचे तक 800 मीटर का अंतर है। इसलिए लोग आतुल्यअर गांव को कगार गांव कहा जाता है।

सड़क नहीं पहुंचने की वजह से गांववासियों को तरह तरह समस्याओं का सामना करना पड़ा। मार्ग बनाना वहां पर गरीबी उन्मूलन की प्राथमिकता है। इसके लिए अगस्त 2016 में स्थानीय सरकार ने 10 लाख युआन का अनुदान किया। मार्ग बनाने की सभी सामग्री गांववासियों ने खुद पीठ पर उठायी थी। 12वीं एनपीसी के पांचवे पूर्णाधिवेशन में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने स्छ्वान प्रांत के प्रतिनिधियों से साथ बातचीत की और वहां पर यातायात सुधारने के काम की जानकारी ली।

पर्यटन से गरीबी उन्मूलन के लिए स्थानीय सरकार ने 10 गांववासियों को प्रशिक्षण देने के लिए प्रसिद्ध पर्यटन शहर ताली भेजे। अब आतुल्यअर गांव में पर्यटन का तेज विकास हो रहा है। गांव में बिजली, पानी और इंटरनेट आदि सुविधाएं सब उपलब्ध हैं।

मई 2020 में गांव के 84 गरीब परिवार क्रमशः नए मकान में स्थानांतरित हुए। आतुल्यअर गांव अल्पसंख्यक जाति की विशेषता वाला पर्यटन गांव बन गया है। अब 7 स्कूल और 3 अस्पतालों का निर्माण वहां हो रहा है। अनुमान है कि 20 अगस्त को पूरा हो जाएगा।

23 मई को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने सीपीपीसीसी के आर्थिक जगत के सदस्यों के साथ मुलाकात में कहा कि इस साल चीन गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य अवश्य हासिल करेगा। सभी चीनी लोग एक साथ समृद्ध बनेंगे।

(ललिता)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories