गरीबी उन्मूलन को समय पर पूरा करने में सक्षम है चीन

2020-05-21 16:47:36
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

इस साल चीनी राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा के आयोजन के दौरान नये कोरोना वायरस महामारी के फैलने से विभिन्न अनिश्चितताएं सामने आयी हैं। इसी स्थिति में चीन के सामाजिक और आर्थिक विकास लक्ष्य को पूरा करने पर बाहरी जगत का ध्यान आकर्षित है।

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 6 मार्च को कहा कि वर्ष 2020 के अंत तक ग्रामीण क्षेत्रों में सभी गरीब किसानों को गरीबी से मुक्त कराना पार्टी की केंद्रीय कमेटी द्वारा दिया गया वचन है। इसे समय पर पूरा करना ही पड़ेगा। लेकिन पार्टी के नेतृत्व में चीन में गरीबी उन्मूलन का काम पूरा किया जा रहा है। वर्ष 2019 के अंत तक गरीब जनसंख्या 55 लाख तक गिर पड़ी है और गरीबी दर भी 0.6 प्रतिशत तक रही है। 17 मई को चीन की सभी 344 काउंटियों को गरीबी काउंटी की नामसूची में से निकाला गया है। केंद्र सरकार ने अंतिम सभी लोगों के गरीबी उन्मूलन कार्य के लिए 30 अरब युआन की पूंजी लगायी है।

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी जन जीवन को प्राथमिकता के सिद्धांत पर कायम है। पार्टी की 18वीं राष्ट्रीय कांग्रेस से महासचिव शी चिनफिंग ने गरीबी उन्मूलन का विन्यास कर सिलसिलेवार कदम उठाये। उन्होंने खुद भी बीसेक गरीब गांवों का दौरा किया। चीन ने गरीबी उन्मूलन कार्य पूरा करने के लिए वैज्ञानिक उपाय और औद्योगिक नीतियां अपनायी हैं। अभी तक चीन में 97.5 प्रतिशत गरीबी उन्मूलन कारोबारों में उत्पादन बहाली हो गयी है। 82 प्रतिशत गरीबी उन्मूलन मुद्दों में काम फिर से शुरू हो गया है।

महामारी की रोकथाम के दौरान चीन सरकार ने गरीबी उन्मूलन कार्यों में स्थिर नहीं किया और गरीब क्षेत्रों में सकारात्मक रोजगार नीतियां अपनायीं। सरकार ने इस वर्ष के कई महीनों में महामारी से प्रभावित क्षेत्रों को 5.6 अरब युआन की पूंजी डाली जिससे तीन लाख गरीब किसानों को मदद मिलेगी। इसके अलावा चीन में ई-कॉमर्स और रसद उद्योग के विकास से गरीबी उन्मूलन कार्यों में मदद दी जा रही है।

विश्व बैंक के आंकड़े बताते हैं कि विश्व भर के गरीबी उन्मूलन में चीन की योगदान दर 70 प्रतिशत रही है। केन्या के अंतर्राष्ट्रीय सवाल विश्लेषक एधेर कैविंस ने कहा कि गरीबी उन्मूलन के संदर्भ में चीन की उपलब्धियां मानव इतिहास में अभूतपूर्व हैं। उधर, ब्रिटेन के लंदन किंग्स कॉलेज के प्रोफेसर कैरी ब्राउन ने कहा कि गरीबी उन्मूलन के दौरान चीन विश्व के साथ एक अनवरत, निष्पक्ष, समावेशी और उभय-जीत वाला समाज बनाएगा।

जर्मनी के बर्लिन प्रशिया एसोसिएशन के मानद अध्यक्ष वोल्कर त्सचापके ने हाल में कहा कि महामारी के फैलाव से चीन में गरीबी उन्मूलन कार्यों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। उन की बात सही है कि चीन में विकास का रुझान महामारी के प्रकोप से नहीं बदलेगा। "गरीबी से छुटकारा" चीनी जनता के लिए एकता से संघर्ष करने का नया प्रारंभिक बिंदु बन जाएगा।

( हूमिन )

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories