लोग चीन की सीपीपीसीसी व एनपीसी की प्रतीक्षा में हैं

2020-05-21 13:17:35
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

कोविड-19 महामारी के प्रभाव से स्थगित चीन की सीपीपीसीसी व एनपीसी 21 मई को पेइचिंग में उद्घाटित होंगी। एक महत्वपूर्ण वार्षिक राजनीतिक मामले के रूप में दो सम्मेलनों में इस साल में चीन की राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक, सैन्य व राजनयिक नीति बनायी जाएगी। जो बाहरी दुनिया के लिये चीन को जानने की एक खिड़की है। खास तौर पर इस वर्ष में कोविड-19 महामारी विश्व में फैल रही है। 210 से अधिक देश व क्षेत्र महामारी से पीड़ित हैं। महामारी ने 7 अरब जनसंख्या पर कुप्रभाव डाला है, और 3 लाख लोगों की जान भी छीन ली है। महामारी के कुप्रभाव से विभिन्न देशों में दुकानें, कारखाने व स्कूल सभी बंद हैं। कई देश आर्थिक मंदी में फंस चुके हैं। महामारी के अंतिम काल में चीन कौन सा तैयारी कार्य करेगा? इस पर विश्व का ध्यान केंद्रित हुआ है।

पहले, कड़ी मेहनत और बड़ा बलिदान देने के बाद चीन ने अच्छी तरह से महामारी पर नियंत्रण किया है। लेकिन विश्व में महामारी की स्थिति अब तक गंभीर व जटिल है। इसलिये चीन मानव स्वास्थ्य साझा नियति समुदाय के निर्माण और महामारी के मुकाबले में वैश्विक सहयोग को मजबूत कर रहा है। दूसरे, महामारी के कुप्रभाव से पहले तिमाही में चीन की जीडीपी पिछले वर्ष के इसी अवधि से 6.8 प्रतिशत से कम हुई। पर देश भर में विभिन्न व्यवसायों व उद्यमों की बहाली से चीन का आर्थिक पुनःआरंभ किया गया है। और तीसरे, इस वर्ष चीन में व्यापक रूप से खुशहाल समाज का निर्माण और गरीबी उन्मूलन के कार्य को पूरा करने का महत्वपूर्ण वर्ष है। अब तक चीन में 52 काऊंटियां गरीबी से मुक्त नहीं हुई हैं, और 55.1 लाख लोग गरीबी से ग्रस्त हैं। इसलिये इस बार आयोजित दो सम्मेलनों के दौरान सीपीपीसीसी के सदस्य व एनपीसी के प्रतिनिधि मानव के इतिहास में सब से महान कार्य के लिये अपनी राय व सुझाव पेश करेंगे।

चंद्रिमा

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories