चीनः महामारी के सामने विभिन्न देशों को एकजुट होकर सहयोग मजबूत करना चाहिए

2020-05-21 10:59:09
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

20 मई के तीसरे पहर चीनी जन राजनीतिक सलाहकार सम्मेलन यानी सीपीपीसीसी के प्रेस सेंटर ने एक न्यूज ब्रीफिंग आयोजित की। सीपीपीसीसी के प्रेस प्रवक्ता क्वो वेइमिन ने कहा कि कोविड-19 के झटके से निपटने के लिए चीन ने समय पर सिलसिलेवार नीतिगत कदम उठाये हैं। आम तौर पर चीन के आर्थिक व सामाजिक विकास की परिस्थिति में स्थिरता कायम हुई है। उन्होंने जोर दिया कि विभिन्न देशों को एकता और सहयोग मजबूत करना चाहिए, नीतिगत रुख का समन्वय करना चाहिए, वैश्विक उद्योग श्रृंखला और सप्लाई श्रृंखला की रक्षा करनी चाहिए, ताकि विश्व अर्थतंत्र को मंदी से बचाया जा सके। हमें पड़ोसी देशों और अन्य देशों से अलग नहीं रहना चाहिए और महामारी को राजनीतिक मामला नहीं बनाना चाहिए।

कोविड-19 ने चीन के अर्थतंत्र पर भारी झटका आया है। पहली तिमाही में जीडीपी में 6.8 प्रतिशत की कटौती आयी है। महामारी के प्रकोप के बाद सीपीपीसीसी के सदस्यों ने वित्तीय बाजार के सुधार को तेज करने, मध्यम व छोटे उद्यमों के अस्तित्व व विकास को सुनिश्चित देने और डिजिटल अर्थतंत्र के विकास को आगे बढ़ाने में अनेक ठोस सुझाव पेश किये हैं। उन के सुझाव सरकारी विभागों द्वारा स्वीकार किये गये हैं।

वैश्विक अर्थतंत्र पर कोविड-19 ने भी भारी असर पड़ा है। इस पृष्ठभूमि में भूमंडलीकरण विरोधी विचारधाराएं फिर से नज़र आने लगी हैं। कोविड-19 ने अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक सहयोग के लिए कठिनाइयां लायी है, लेकिन अंतर्राष्ट्रीय सहयोग की महत्वता भी जाहिर की गयी है।

प्रवक्ता क्वो ने जोर दिया कि चीन बहुपक्षीयवाद और वैश्विक स्वतंत्र व्यापार और निवेश के विकास का आह्वान करता है, एकतरफावाद और व्यापार संरक्षणवाद का विरोध करता है। वैश्विक उद्योग श्रृंखला में अनिर्वार्य पक्ष होने के नाते चीन और उच्च गुणवत्ता वाली सेवा प्रदान करेगा, और श्रेष्ठ व्यापार माहौल की तैयारी करेगा और अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक व व्यापारिक सहयोग को आगे बढ़ाएगा।

(श्याओयांग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories