सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

वांग यी ने भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर के साथ फोन पर बात की

2020-03-25 09:47:36
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी स्टेट काउंसिलर और विदेश मंत्री वांग यी ने 24 मार्च को भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर के साथ फोन पर बात की।

वांग यी ने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी जनता के कोविड-19 के साथ मुकाबले के नाजुक वक्त में राष्ट्रपति शी चिनफिंग को पत्र लिखकर संवेदना व्यक्त की। भारतीय पक्ष ने चीनी जनता को मदद भी दी। हम इस के आभारी हैं। इस समय महामारी विश्व के कई क्षेत्रों में फैल रही है। भारत में पुष्ट मामले भी बढ़ गये हैं। चीनी पक्ष भारतीय पक्ष का अभिवादन करता है और भारत के महामारी विरोधी कदमों और इसमें मिले स्पष्ट परिणामों की प्रशंसा करता है ।विश्वास है कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता जरूर इस महामारी को यथाशीघ्र ही पराजित करेगी । मैत्रीपूर्ण पड़ोसी देश होने के नाते चीन भारत के साथ महामारी के मुकाबले के अनुभवों को साझा करने और भारत को हर संभव मदद देने को तैयार है।

वांग यी ने कहा कि विश्व में एक अरब से अधिक आबादी वाले दो बड़े देश होने के नाते चीन और भारत को महामारी के निपटारे में पारस्परिक समर्थन देकर एक साथ कठिनाई को दूर करना चाहिए ।चीन भारत के साथ जी 20 तथा ब्रिक्स देशों समेत मंचों पर सहयोग मजबूत बनाकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय की एकता और समन्वय बढ़ाकर वैश्विक और क्षेत्रीय सार्वजनिक स्वास्थ्य की सुरक्षा करनी चाहिए।

जयशंकर ने कहा कि भारत ने महामारी के फैलाव को रोकने और आर्थिक विकास पर उस का प्रभाव कम करने के लिए संपूर्ण और सख्त कदम उठाये। भारत चीन की संवेदना और चिकित्सक राहत सामग्री का आभारी है, महामारी की रोकथाम में चीन की उल्लेखनीय उपलब्धियों की प्रशंसा करता है और चीन के अनुभवों से सीखना चाहता है ।भारत वायरस को लेबलिंग करने का विरोध करता है। भारत का विचार है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को महामारी के मुकाबले के इस नाजुक दौर में एकतापूर्ण ,सुदृढ़ ,शक्तिशाली सकारात्मक संकेत देना चाहिए।

(वेइतुंग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories