सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

टिप्पणीः महामारी के मुकाबले में वैश्विक शक्ति इकट्ठा करना नाजुक है

2020-03-14 21:16:05
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

अब विश्व के 123 देशों और क्षेत्रों ने विश्व स्वास्थ्य संगठन से 1 लाख 32 हजार से अधिक पुष्ट कोविड-19 मामलों की रिपोर्ट की ,जिन में मृतकों की संख्या 5 हजार से अधिक है। कहा जा सकता है कि नोवेल कोरोना वायरस के खिलाफ वैश्विक युद्ध एक नाजुक वक्त से गुज़र रहा है । एक ही दिन में अमेरिका और यूरोपीय देशों ने महामारी की रोकथाम को मज़बूत किया । अमेरिका ने राष्ट्रीय आपात काल की घोषणा की है। जर्मन चांसलर एंजेला मार्केल ने बल दिया कि अब समय पकड़कर महामारी के फैलाव को रोकना है ।

गंभीर स्थिति के मद्देनजर पहले चीन की कोविड-19 विरोधी कोशिशों पर आरोप लगाने वाले पश्चिमी मीडिया को मानना पड़ा कि अगर विभिन्न देशों ने सक्रियता से कार्रवाई नहीं की , तो विश्व राजनीति और अर्थव्यवस्था पर महामारी का प्रभाव शायद अनियंत्रित होगा ।

12 मार्च की रात चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुटेरेस के साथ फोन पर बात कर कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को फौरन ही कदम उठाकर संयुक्त रोकथाम के लिए अंतरराष्ट्रीय सहयोग चलाना और वैश्विक शक्ति इकट्ठा करनी चाहिए।

चीन ठोस कदमों से महामारी के खिलाफ़ वैश्विक मुकाबले में भाग ले रहा है। उदाहरण के लिए चीनी पक्ष ने यूरोपीय पक्ष के साथ संयुक्त विशेषज्ञ दल स्थापित किया ,अनेक देशों को आपात चिकित्सा राहत सामग्री प्रदान की और ईरान ,इराक और इटली को चिकित्सक दल भेजे ।चीन सरकार ने विश्व स्वास्थ्य संगठन को 2 करोड़ अमेरिकी डॉलर का दान दिया। संयुक्त राष्ट्र और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चीन की कार्रवाईयों की बड़ी प्रशंसा की ।

महामारी की कोई राष्ट्रीय सीमा नहीं है ।कोविड-19 महामारी के खिलाफ़ विश्व युद्ध जीतने के लिए एकजुट होकर सहयोग करना अंतरराष्ट्रीय समुदाय का एकमात्र चुनाव है। वर्तमान में महामारी के मुकाबले में वैश्विक शक्ति इकट्ठा करना नाजुक है।

(वेइतुंड)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories