पेइचिंग : चीन-भारत भाषा शिक्षा आदान प्रदान और सहयोग संगोष्ठी आयोजित

2019-08-12 10:41:53
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/3

11 अगस्त को दूसरी चीन-भारत भाषा शिक्षा आदान प्रदान और सहयोग संगोष्ठी पेइचिंग में आयोजित हुई। कन्फ्यूशियस संस्थान के मुख्यालय ने इस बार की संगोष्ठी का आयोजन किया, जो चीन-भारत भाषा शिक्षा के सृजन और विकास के प्रमुख मुद्दे पर विचार-विमर्श किया गया। चीन और भारत के कई कॉलेज और विश्वविद्यालय के प्रधानों, कन्फ्यूशियस संस्थान के अध्यक्षों, मशहूर विशेषज्ञों और विद्वानों और उत्कृष्ट शिक्षकों और छात्रों समेत कुल सौ से अधिक प्रतिनिधियों ने इस में भाग लिया।

कन्फ्यूशियस संस्थान के मुख्यालय के उप महा प्रबंधक मा चिए फेई ने उद्घाटन समारोह में भाषण देते हुए कहा कि हजारों सालों से, चीनी और भारतीय लोगों ने एक-दूसरे से सीखा है और समान रूप से शानदार एशियाई सभ्यता और विश्व सभ्यता के निर्माण में बड़ा योगदान दिया । चीन और भारत के बीच उच्च स्तरीय मानविकी और सांस्कृतिक आदान-प्रदान व्यवस्था की बैठक दोनों देशों के बीच मानविकी आदान-प्रदान और सहयोग को आगे बढ़ाने की महत्वपूर्ण व्यवस्था और इन्तजाम है। इस बार के संगोष्ठी में प्रमुख रूप से आर्थिक वैश्वीकरण और सांस्कृतिक विविधता की पृष्ठभूमि में चीन और भारत के बीच भाषा शिक्षा के आदान-प्रदान और सहयोग के नए विचार और नए तरीके पर विचार-विमर्श किया गया।

संगोष्ठी में चीन और भारत की भाषा शिक्षा संस्थान के प्रधानों, भाषा और संस्कृति विशेषज्ञ, विद्वान, शिक्षक और छात्र ने 3 विशेष बैठक में विचार-विमर्श किया। उन्होंने भारत के चीनी शिक्षण में पाठ्यक्रम, शिक्षक प्रशिक्षण, पाठ्यपुस्तक विकास, शिक्षण पद्धति नवाचार आदि मुद्दों पर भी गहन रूप से विचारों का आदान-प्रदान भी किया।

(वनिता)

शेयर