सार्वजनिक नेटवर्क स्पेस अमेरिका का निजी क्षेत्र बन गया है - जन दैनिक

2019-06-12 11:31:15
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

सार्वजनिक नेटवर्क स्पेस अमेरिका का निजी क्षेत्र बन गया है - जन दैनिक

सार्वजनिक नेटवर्क स्पेस अमेरिका का निजी क्षेत्र बन गया है - जन दैनिक

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के मुख्य अख़बार जन दैनिक पर 12 जून को एक लेख छापा गया, जिसका शीर्षक है संस्थापनों पर अपना प्रभुत्व जमाना और पूरी दुनिया पर नज़र रखना, सार्वजनिक नेटवर्क स्पेस अमेरिका का निजी क्षेत्र बन गया है।

लेख में कहा गया है कि हाल में अमेरिका ने दुनिया में चीन को बदनाम किया कि चीन के संचार उपकरण में सुरक्षा ख़तरे मौजूद हैं। इसका तर्क है कि हुआवेई, हिकविज़न और डीजी आदि चीनी कंपनियों ने संभवतः अपने उपकरण में बैक्डोर लगाया, जिसका उद्देश्य दुनिया पर नज़र रखने में चीन सरकार की सहायता करना है। लेकिन अमेरिका ने कभी इसके मद्देनज़र सबूत पेश नहीं किया। चीनी मुहावरा कहता है कि लोग अपने विचार से दूसरों का अनुमान लगाते हैं। अमेरिका की चिंता का कारण है कि वह खुद सूचना और संचार प्रौद्योगिकी क्षेत्र में अपनी श्रेष्ठता के प्रयोग से लम्बे समय से दुनिया पर नज़र रखता है।

पश्चिमी मीडिया ने रिपोर्ट जारी की कि अमेरिका दुनिया के 90 प्रतिशत संचार पर नज़र रखता है। यह एडवर्ड स्नोडेन द्वारा प्रस्तुत प्रिज्म योजना से जुड़े दस्तावेजों में सत्य प्रमाणित किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका के गुप्तचर विभाग ने 21वीं शताबदी के शुरू में ही हरेक संचार कंपनियों के उत्पादों की मॉनीटरिंग तकनीक का विकास किया था।

प्रिज्म योजना सार्वजनिक किये जाने के बाद अमेरिका ने अपनी नजर में ढीला नहीं किया। वर्ष 2018 में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने विदेशी डेटा के कानूनी उपयोग के स्पष्टीकरण में विधेयक पर हस्ताक्षर किए, जिससे अमेरिका और आसानी से डेटा प्राप्त कर सकता है।

(ललिता)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories