सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

(इंटरव्यू) भारत-चीन संबंध में तीव्रता आयी है : भारतीय राजदूत

2019-05-02 14:13:31
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

(इंटरव्यू) भारत-चीन संबंध में तीव्रता आयी है : भारतीय राजदूत

(इंटरव्यू) भारत-चीन संबंध में तीव्रता आयी है : भारतीय राजदूत

चीन में बहुत जल्द ही एशियाई सभ्यताओं के संवाद पर सम्मेलन होने जा रहा है जिसमें एशियाई सभ्यताओं के बीच आपसी सीख और आदान-प्रदान पर जोर दिया जाएगा। इस पर भारतीय राजदूत विक्रम मिस्री ने कहा, “भारत और चीन दोनों प्राचीन सभ्यताएं हैं और प्राचीन समय में दोनों देशों के बीच एक अच्छा आदान-प्रदान रहा है। यदि एशियाई सभ्यताओं के बीच संवाद होने की बात हो तो बेशक भारत और चीन दोनों शामिल रहेंगे।”

उन्होंने बताया कि इस संवाद सम्मेलन में भाग लेने के लिए भारत को आमंत्रित किया गया है। चूंकि इस समय भारत में आम चुनाव चल रहे हैं तो राजनीतिक स्तर पर किसी का आना मुश्किल है। लेकिन भारत इस संवाद सम्मेलन में अवश्य ही भाग लेगा और संभवतः भारतीय साहित्य अकादमी के सचिव भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। उम्मीद है कि इससे दोनों देशों के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान अवश्य ही बढ़ेगा।

राजदूत विक्रम मिस्री ने इंटरव्यू में यह भी कहा, “आज के समय में दोनों देशों के बीच लोगों से लोगों का आदान-प्रदान जिस स्तर का होना चाहिए, वो वैसा नहीं है। लेकिन एशियाई सभ्यताओं के संवाद पर सम्मेलन जैसे समारोह से हमें लोगों के बारे में जानने और अपनी बात कहने का मौका मिलता है।” उनका कहना है कि इस तरह यह अत्यंत आवश्यक है कि चीन और भारत के लोगों के बीच जानकारी बढ़े, गलतफहमियां दूर हों, और एक दूसरे के देश आसानी से आ-जा सकें।

HomePrev123Total 3 pages

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories