सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

(इंटरव्यू) भारत-चीन संबंध में तीव्रता आयी है : भारतीय राजदूत

2019-05-02 14:13:31
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

(इंटरव्यू) भारत-चीन संबंध में तीव्रता आयी है : भारतीय राजदूत

(इंटरव्यू) भारत-चीन संबंध में तीव्रता आयी है : भारतीय राजदूत

राजदूत विक्रम मिस्री ने इंटरव्यू में कहा, “हमारे नेताओं ने वुहान शिखर सम्मेलन के दौरान उच्च स्तरीय तंत्र की स्थापना का निर्णय लिया था, जो विदेश मंत्रियों के स्तर पर था। उस तंत्र की पहली बैठक पिछले साल दिसंबर में हुई, जो खासकर सांस्कृतिक आदान-प्रदान और लोगों से लोगों का संपर्क बढ़ाने पर थी।” उन्होंने यह भी कहा, “अगले साल चीन और भारत के राजनयिक संबंध की 70वीं वर्षगांठ मनाने जा रहे हैं। पिछले एक साल में हमने जो कुछ किया है, उससे एक अच्छा प्लेटफॉर्म बनकर तैयार हुआ है।” उनका मानना है कि इस समय चीन और भारत के संबंध मजबूत हैं और आगे चलकर और मजबूत होंगे।

इसी साल चीन में भारतीय राजदूत का कार्यभार संभालने वाले राजदूत विक्रम मिस्री ने बताया कि भारतीय दूतावास का रोल एक सेतु की भांति है। यह चीन और भारत के लोगों व सरकारों के बीच समन्वय करता है और दोनों देशों के बीच होने वाले समारोह की रूपरेखा तैयार करता है। उन्होंने कहा, “दोनों देशों के राजनयिक संबंध की 70वीं वर्षगांठ मनाने के लिए जो समारोह आयोजित करेंगे, उसके लिए हम चीन सरकार के लोगों के साथ मिलकर योजना बनाएंगे। हम हर क्षेत्र के लोगों के साथ मिलकर काम करना चाहेंगे, चाहे वे विद्यार्थी हो, थिंकटैंक हो या फिर मीडिया हो।”

गत माह के अंत में 2019 पेइचिंग विश्व बागवानी मेले का उद्घाटन हुआ, जिसका मुख्य विषय हरित जीवन और सुंदर घर है। दुनिया के तमाम देशों के साथ भारत भी इस मेले में भाग ले रहा है। पेइचिंग विश्व बागवानी मेले को महत्वपूर्ण इवेंट बताते हुए राजदूत विक्रम मिस्री ने कहा, “यह इवेंट हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। पूरे विश्व से जो लोग और कंपनियां आयी हैं उनसे बात करने का मौका मिलेगा। इससे हमारी समझ में बढ़ोत्तरी होगी और हम चाहेंगे कि इस हॉर्टिकल्चर एक्सपो में तकनीकी आदान-प्रदान पर बातचीत कर सकें।” उन्होंने बताया कि इस मेले में भाग लेने के लिए भारत के नेशनल हॉर्टिकल्चर बोर्ड के अधिकारीगण आए हुए हैं और भारत की तरफ से भी एक उद्यान बनाया गया है। वे उम्मीद करते हैं कि चीनी नागरिकों के साथ-साथ चीन में रह रहे भारतीय नागरिक भी इस मेले को देखने जाएंगे।

HomePrev123MoreTotal 3 pagesNext

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories