नज़रबायेवः मैं इस गहरी मैत्री को हमेशा बनाए रखूंगा

2019-04-28 20:18:50
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
2/2

मेरे और पुराने मित्र शी चिनफिंग के बीच यह 19वीं मुलाकात है। मैं हमेशा इस गहरी मैत्री को बनाए रखूंगा।

28 अप्रैल के दोपहर को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कजाकस्तान के प्रथम राष्ट्रपति नज़रबायेव से मुलाकात की। उपरोक्त बात नज़रबायेव ने शी चिनफिंग से मुलाकात के दौरान कही।

79 वर्षीय नज़रबायेव ने पिछले महीने कजाकस्तान के राष्ट्रपति पद से इस्तीफ़ा देने की घोषणा की। इस बार वे कजाकस्तान के प्रथम राष्ट्रपति की हैसियत से दूसरे बेल्ट एंड रोड अंतर्राष्ट्रीय सहयोग शिखर मंच में भाग लेने पेइचिंग आये हैं। नज़रबायेव ने कुल मिलाकर 25 बार चीन की यात्रा की, जो चीन की सबसे ज्यादा बार यात्रा करने वाले विदेशी नेता माने जाते हैं। इसलिए 28 अप्रैल को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने खास तौर पर उन के लिए एक रस्म का आयोजन किया और उन्हें मैत्री पदक पुरस्कार से सम्मानित किया।

मौके पर शी चिनफिंग ने कहा कि नज़रबायेव चीन-कजाकस्तान व्यापक सामरिक साझेदारी संबंधों के संस्थापक हैं। चीन और कजाकस्तान ने इतिहास द्वारा छोड़ी गयी सीमा समस्या का हल किया, ताकि 1780 किलोमीटर लम्बी सीमा दोनों देशों की जनता की मैत्री को जोड़ने की बेल्ट बन सके। दोनों ने सीमा पार तेल व गैस पाइप का निर्माण किया और सामरिक साझेदारी संबंधों का निर्माण भी किया। साथ ही चीन और कजाकस्तान बेल्ट एंड रोड के सहनिर्माण के दृढ़ समर्थक भी हैं। 2013 में शी चिनफिंग ने कजाकस्तान में रेशम मार्ग आर्थिक पट्टी पहल पेश की। चीन और कजाकस्तान ने सिलसिलेवार सामरिक अर्थ वाले अहम सहयोग परियोजनाओं का कार्यान्वयन किया।

नज़रबायेव ने कहा कि यह पदक द्विपक्षीय व्यापक सामरिक साझेदारी संबंधों को आगे बढ़ाने के उनके प्रयास के प्रति चीन की सराहना का प्रतिबिंब है। शी चिनफिंग द्वारा पेश की गयी बेल्ट एंड रोड पहल सफल अंतर्राष्ट्रीय सहयोग प्लेटफार्म बन चुका है। जिस ने एशिया-यूरोप महाद्वीप के समान विकास और विश्व की शांति व समृद्धि को आगे बढ़ावा दिया है। उन्होंने कहा कि कजाकस्तान द्विपक्षीय संबंधों को निरंतर आगे विकसित करेगा।

(श्याओयांग)

शेयर