चीन की पेइतो व्यवस्था के तहत 20वां उपग्रह सफलता से प्रक्षेपित

2019-04-21 15:59:04
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/4

20 अप्रैल को चीन ने अपने उत्तर पश्चिमी भाग के सिछांग उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र में पेइतो व्यवस्था के तहत 20वां उपग्रह सफलतापूर्वक प्रक्षेपित किया। योजनानुसार इस साल चीन पेइतो व्यवस्था के और आठ से दस उपग्रह प्रक्षेपित करेगा। जिससे विश्व में सैटेलाइट पोजिशनिंग सिस्टम में सुधार किया जाएगा।

इधर के वर्षों की कोशिशों से चीन की पेइतो व्यवस्था का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जा चुका है। सैटेलाइट पोजिशनिंग सिस्टम की सेवाएं विश्व में 90 से अधिक देशों और क्षेत्रों में निर्यातित की गयी हैं। पेइतो उपग्रह नेविगेशन प्रणाली के जनरल डिज़ाइनर यांग छांग फ़ंग ने कहा कि 20 अप्रैल को प्रक्षेपित उपग्रह पेइतो उपग्रह नेविगेशन प्रणाली के नम्बर 3 व्यवस्था के तहत 20वां उपग्रह है। चीनी एयरोस्पेस विज्ञान और प्रौद्योगिकी समूह के जनरल डिज़ाइनर चेन चूंग क्वेई ने कहा कि नव प्रक्षेपित उपग्रह पर नयी तकनीक का इस्तेमाल किया गया है और इस के सिगनल भेजनी की क्षमता भी बढ़ी है। यह उपग्रह प्रक्षेपित करने का उल्लेखनीय अर्थ है जो भार, संकेत और शक्ति की दृष्टि से सबसे श्रेष्ठ है। नयी तकनीकों का इस्तेमाल करने से सिनगल भेजने की शक्ति भी बढ़ी है।

पेइतो व्यवस्था चीन के द्वारा स्वतंत्रता के साथ विकास और संचालन करने की वैश्विक उपग्रह नेविगेशन प्रणाली है। पेइतो व्यवस्था की विशेष डिज़ाइनिंग से एशिया व प्रशांत क्षेत्र में श्रेष्ठ सेवाएं प्रदान की जाएंगी। चेन चूंग क्वेई ने कहा कि नव प्रक्षेपित उपग्रह से पेइतो व्यवस्था को और मजबूत किया जाएगा, जो एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण को भी बढ़ावा दिया जाएगा। इधर के वर्षों के विकास से पेइतो व्यवस्था की अपनी उत्पादन नेट उपलब्ध हो चुकी है। जिसका यातायात, कृषि, सार्वजनिक सुरक्षा और मैपिंग आदि के उद्योग में इस्तेमाल किया जा रहा है। अभी तक इंडोनेशिया, कुवैत, युगांडा, पाकिस्तान और रूस आदि के बुनियादी उपकरणों के निर्माण में पेइतो व्यवस्था का प्रयोग किया जा रहा है।

( हूमिन )

 

शेयर