मीलिन कस्बे में अच्छा जीवन बिता रहे हैं तिब्बतवासी

2019-04-04 18:43:39
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
3/5

दक्षिण पूर्वी तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के न्यिंग-ची शहर की मीलिन काउंटी के मीलिन कस्बे में लोग आर्थिक सहकारिता के माध्यम से धनी रास्ते की ओर आगे बढ़ रहे हैं, और वे अच्छा जीवन बिताने लगे।

सितम्बर 2012 में तिब्बती वासी निमा ने मीलिन कस्बे के श्वेखा गांव में हांग थाईयांग वैज्ञानिक तकनीकी मॉडल पारिवारिक फार्म की स्थापना की, जहां 49 ग्रीन हाउस उपलब्ध हैं, मुख्य तौर पर मशरूम रूपी जड़ी-बूटी उगायी जाती हैं। साल 2018 में कुल आय 19 लाख युआन प्राप्त हुई, जिसमें 4 लाख का शुद्ध मुनाफ़ा है। खुद का विकास करने के साथ-साथ निमा के फ़ार्म में गांववासियों को मुफ्त रूप से रोपण तकनीक सिखाया जाता है और साथ ही रोज़गार का पद प्रदान किया जाता है। अब तक गांव में 21 परिवार गरीबी से मुक्त हुई, हर परिवार की सालाना औसतन आय में 2 से 3 हज़ार युआन की बढ़ोतरी होती है।

मीलिन कस्बे के पांगचोंग गांव में रहने वाले बासांग ने कई बार पूर्वोत्तर चीन का निरीक्षण दौरा किया। साल 2012 में उसने 4.2 लाख युआन की राशि से काले मशरूम के उत्पादन केंद्र की स्थापना की, जहां मुख्य तौर पर काले मशरुम समेत खाद्य कवक के उत्पादन, खरीदारी, प्रोसेसिंग, बिक्री और संबंधित प्रशिक्षण किया जाता है। साल 2018 में इस केंद्र ने काले मशरूम के 1.5 लाख थैली वाले तीन स्तरीय कवक का उत्पादन किया, जिससे शुद्ध आय 2 लाख युआन से अधिक रही।

 (श्याओ थांग)

शेयर