टिप्पणी:क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण में व्यवस्थागत नवाचार की जरूरत

2019-03-11 19:29:44
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

टिप्पणी:क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण में व्यवस्थागत नवाचार की जरूरत

टिप्पणी:क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण में व्यवस्थागत नवाचार की जरूरत

चीन सरकार ने फरवरी को क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण की एक योजना जारी की। इस के प्रति विश्व में सकारात्मक रिपोर्टें सुनायी गयी हैं। महा खाड़ी क्षेत्र का निर्माण करने में एक देश में दो व्यवस्थाएं, तीन मुद्रा कोष और तीन कानूनी प्रणाली की स्थितियों का मुकाबला किया जाएगा। इसलिए खाड़ी क्षेत्र के निर्माण के लिए व्यवस्थागत नवाचार की फौरी जरूरत है।

चीन के रुपांतर और खुलेपन के बीते चालीस सालों में क्वांगतुंग, हांगकांग और मकाओ इन तीन क्षेत्रों में हमेशा से घनिष्ठ सहयोग किया जा रहा है। वर्ष 2003 में भीतरी इलाके और हांगकांग व मकाओ के बीच घनिष्ठ आर्थिक संबंध संबंधी दस्तावेज़ों पर हस्ताक्षर किये गये। इधर के वर्षों में चीन ने शेनचेन शहर में शेनचेन-हांगकांग आधुनिक सेवा सहयोग क्षेत्र स्थापित किया और इसे शेनचेन और हांगकांग के बीच सहयोग तथा इस के आधार पर अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को आगे बढ़ाने का कोर क्षेत्र बनाना चाहा। इस के बाद चीन सरकार ने क्वांगतुंग प्रांत में राष्ट्र स्तरीय स्वतंत्र व्यापार प्रयोगात्मक क्षेत्र स्थापित किया जिससे क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण के लिए नींव मजबूत की गयी है।

टिप्पणी:क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण में व्यवस्थागत नवाचार की जरूरत

टिप्पणी:क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण में व्यवस्थागत नवाचार की जरूरत

क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण का क्षेत्रफल न्यूयार्क, सैन फ्रांसिस्को तथा टोक्यो तीन मौजूदा खाड़ी क्षेत्र के कुल मात्रा के बराबर है। कंटेनर प्रवाह की क्षमता भी उक्त तीन खाड़ी क्षेत्र से चार पाँच गुणी अधिक है। लेकिन क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के अन्दरूनी सहयोग और संचालन करने के प्रति फिर भी कुछ समस्याएं मौजूद हैं। अंतर्राष्ट्रीय अनुभव के आधार पर व्यवस्थाओं का नवाचार किया जाना चाहिये।

इस विशाल क्षेत्र में व्यवस्थाओं का फर्क मौजूद होने से उत्पादन तत्वों के प्रवाह को रोका जाता है। दूसरी तरफ ऐसी व्यवस्थागत फर्कों की विशेषता से व्यवस्थागत नवाचार के मौके तैयार किये गये हैं। वैधीकरण, अंतर्राष्ट्रीयकरण, और सुविधा के आधार पर तीन क्षेत्रों का एकीकरण किया जाएगा और चीन के नये चरण के रुपांतर व खुलेपन को बढ़ावा दिया जाएगा।

टिप्पणी:क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण में व्यवस्थागत नवाचार की जरूरत

टिप्पणी:क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण में व्यवस्थागत नवाचार की जरूरत

विश्लेषकों का मानना है कि क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण में सबसे पहले वित्तीय नवाचार किया जा सकेगा। हांगकांग एशिया में दूसरा बड़ा और दुनिया में चौथा बड़ा विदेशी मुद्रा बाजार है, और वह भी विश्व में सब से बड़ा ऑफशोर आरएमबी बिजनेस सेंटर है। महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण से हांगकांग के अंतर्राष्ट्रीय वित्त केंद्र की श्रेष्ठता को उजागर किया जाएगा। और वित्तीय सहयोग से इस क्षेत्र में विनिर्माण के उन्नयन तथा तकनीकी नवाचार के लिए पूंजी प्रदान की जाएगी। वित्त, बीमा और सेवा कारोबारों के विकास से महा खाड़ी क्षेत्र के विभिन्न उत्पादन तत्वों में "सुपर संपर्क" की भूमिका अदा की जाएगी और इससे दूसरे क्षेत्रों में इंटरकनेक्शन को भी आगे बढ़ाया जाएगा।

( हूमिन )

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories