(फोटो)विभिन्न देशों के साथ सहयोग से चीन का छांग अ 4 कार्यक्रम सफलता से संपन्न

2019-01-10 19:11:08
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
2/3

चीनी उपग्रह छांग अ की 4 चाँद के पीछे नरम लैंडिंग के बाद, कई देशों और संगठन द्वारा चलाए जा रहे वैज्ञानिक अन्वेषण मिशन शुरू हो गए हैं। लैंडिंग उपकरण पर जर्मनी द्वारा बनाया गया न्यूट्रॉन-विकिरण डिटेक्टर और स्वीडन द्वारा बनाया गया तटस्थ परमाणु डिटेक्टर है। नरम लैंडिंग के बाद ये सभी उपकरण अपने कार्य में औपचारिक रूप से जुट गए हैं। प्राप्त किए गए सभी डेटा छ्वेछिओ ट्रंक स्टार के जरिए पृथ्वी के लिए भेजे जाएंगे, ताकि चीनी और विदेशी वैज्ञानिक एक साथ संबंधित अध्ययन कर सकते हैं।

संबंधित देशों के योगदान से छांग अ 4 ने सफलता से चाँद के पीछे नरम लैंडिंग की। जर्मनी और स्वीडन के अलावा, नीदरलैंड, रूस, अर्जेंटीना, सऊदी अरब और यूरोपीय अंतरिक्ष नियंत्रण स्टेशन आदि ने भी इस कार्य में हिस्सा लिया।

गौरतलब है कि छांग अ 4 लॉच होने से पहले, अमेरिकी एयरोस्पेस प्रशासन के चंद्र अन्वेषण ऑर्बिटर LRO के टीम ने भी छांगए 4 के इंजीनियरिंग टीम के वैज्ञानिकों के साथ घनिष्ठ संचार किया।

चीनी राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन ने कहा कि चीन उम्मीद है कि विभिन्न देशों के अंतरिक्ष संगठन, अंतरिक्ष विज्ञान अनुसंधान संस्थान और अंतरिक्ष की खोज के उत्साह के साथ सहयोग करते हुए एक साथ अंतरिक्ष के रहस्यों का अन्वेषण करेंगे।

(मीरा)

शेयर