ली खछ्यांग की होने वाली यात्रा पर चीनी विदेश मंत्रालय का मीडिया ब्रीफिंग

2018-11-09 10:53:42
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी विदेश मंत्रालय ने 8 नवंबर को प्रधानमंत्री ली खछ्यांग की सिंगापुर यात्रा और पूर्वी एशियाई सहयोग शिखर बैठक समेत सिलसिलेवार सम्मेलनों में भाग लेने के मुद्दे पर मीडिया ब्रीफिंग आयोजित किया। चीनी सहायक विदेश मंत्री छेन श्याओ तुंग ने संबंधित स्थिति का परिचय दिया और देसी विदेशी संवाददाताओं के सवालों का जवाब दिया।

छेन श्याओ तुंग ने परिचय देते हुए कहा कि सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली ह्सीन लूंग के आमंत्रण पर ली खछ्यांग 12 से 16 नवंबर तक सिंगापुर की यात्रा करेंगे, चीन-आसियान के नेताओं के 21वें सम्मेलन, आसियान, चीन, जापान और दक्षिण कोरिया के नेताओं के बीच 21वें सम्मेलन, 13वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे।

छेन श्याओ तुंग ने कहा कि सिंगापुर चीन का महत्वपूर्ण पड़ोसी देश है, इस वर्ष वह आसियान का वर्तमान अध्यक्ष देश है। द्विपक्षीय संबंधों का बड़ा विकास हो रहा है। इस बार की यात्रा 11 वर्षों बाद चीनी प्रधानमंत्री की एक बार फिर सिंगापुर की यात्रा के साथ चीनी प्रधानमंत्री बनने के बाद ली खछ्यांग की पहली सिंगापुर यात्रा होगी, जो द्विपक्षीय संबंधों के विकास को आगे बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण है।

छेन श्याओ तुंग ने कहा कि इस वर्ष चीन और आयिसान के बीच रणनीतिक साझेदार संबंधों की स्थापना की 15वीं वर्षगांठ के साथ चीन-आयिसान सृजन वर्ष भी है। एकपक्षवाद और संरक्षणवाद के विकास की स्थिति में क्षेत्रीय देश क्षेत्रीय सहयोग को आगे बढ़ाने में जुटे रहेंगे। चीन-आसियान सहयोग का स्थिरता के साथ विकास हो रहा है। चीन, जापान और दक्षिण कोरिया के बीच सहयोग फिर शुरु हुआ है। क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदार समझौते की वार्ता में तेज़ी लाई गई। चीन को उम्मीद है कि इस वर्ष सिलसिलेवार सम्मेलन पूर्वी एशिया सहयोग पर ध्यान दिया जाएगा, ताकि समान रूप से बहुपक्षवाद, मुक्त व्यापार की रक्षा की जा सके, क्षेत्रीय आर्थिक एकीकरण को आगे बढ़ाया जा सके।

(वनिता)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories