नानचिंग स्ट्रीट और बंड

2018-11-08 10:30:00
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn


 

नानचिंग स्ट्रीट और बंड

शांगहाई की सबसे प्रसिद्ध जगह नानचिंग स्ट्रीट है। करीब साढ़े 5 किलोमीटर लंबी और ढेर सारे होटलों, दुकानों, छोटी दुकानों, रेस्तरां से भरा ये इलाका शांगहाई आने वालों की पहली पसंद है। पूर्व से पश्चिम में लंबाई में फैले नानचिंग स्ट्रीट के पूर्वी अंत में बंड यानी पुश्ता, नदी का किनारा है, वहीं इसके पश्चिमी छोर पर चिन आन बौद्ध मंदिर है।

1842 में जब इस जगह का निर्माण हुआ था तब इसका नाम पार्क स्ट्रीट था, जो वर्ष 1862 में बदलकर नानचिंग हो गया। पूर्वी और पश्चिमी नानचिंग स्ट्रीट के एक तरफ़ ढेर सारी छोटी बड़ी दुकानें, होटल, रेस्तरां हैं तो दूसरी तरफ़ पार्क होटल समेत कई पांच सितारा होटल हैं। इसके साथ ही ज़ारा, गुची, कार्टीयर, प्राडा, टॉमी हिलफाईगर, रोलेक्स, फ़ेंडी, चैनल, सेफ़ोरा, टॉम फोर्ड जैसे उच्च स्तरीय ब्रांड के शोरूम हैं। रोज़ाना यहां पर करीब दस लाख लोग घूमने और खरीदारी करने आते हैं।

नानचिंग स्ट्रीट और बंड

 इसके आगे बंड यानी पुश्ता है जो करीब एक किलोमीटर लंबा है। ये जगह सैलानियों से खचाखच भरी रहती है, जहां हुआंगभू नदी की दूसरी तरफ़, शांगहाई टावर, पर्ल टावर, फाईनेंशियल टावर समेत आधुनिक इमारतें और कॉर्पोरेट सेक्टर है। वहीं नानचिंग स्ट्रीट की तरफ़ औपनिवेशिक काल में बनी नियो ग्रीक, गॉथिक और रोमन शैली में बनी ढेरों इमारते हैं जो आपको अठारहवीं शताब्दी की याद दिलाती हैं। हुआंगभू नदी पार कराने के लिये यहां फेरी यानी स्टीमर चलता है जो मात्र दो युआन में लोगों को उस पार पहुंचाता है, जहां जाकर सैलानी आधुनिक चीन का नज़ारा लेते हैं और हुआंगभू नदी में घूमने का आनंद उठाते हैं।

शांगहाई का मुख्य आकर्षण रोज़ाना यहां आने वाले लाखों लोगों के स्वागत के लिये हर समय तैयार रहता है। देर रात तक यहां पर सैलानियों की भीड़ देखी जा सकती है जो दुकानों से अपने मनपसंद सामान खरीदते और रेस्तरां में बैठे खाते और गप्पें लड़ाते देखे जा सकते हैं।

 

पंकज श्रीवास्तव

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories