चीन : भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 149वीं जयंती मनाई गई

2018-10-02 17:22:45
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/9

चीन की राजधानी पेइचिंग में भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 149वीं जयंती मनाई गई। भारतीय दूतावास ने पेइचिंग के छाओयांग पार्क में गांधी जयंती मनाने के लिए एक खास समारोह का आयोजन किया, जिसमें कई भारतीय राजनयिक, चीन में गांधी जी के प्रशंसक और भारतीय लोग शामिल हुए।

भारतीय दूतावास के डिप्टी चीफ ऑफ मिशन अक्विनो विमल ने गांधी जी की प्रतिमा पर फूलमाला अर्पित की और वहां मौजूद लोगों को संबोधित किया। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि भले ही गांधी जी हमारे बीच न हो, फिर भी उनके शब्द और कार्य हम सभी को प्रेरित करते रहेंगे। गांधी जी सत्य और अहिंसा के मानवीय मूल्यों के प्रतीक हैं। उनकी अहिंसा के लिए वकालत ने उपनिवेशवाद को खत्म कर दिया। उनकी लड़ाई के तरीके ने मार्टिन लूथर किंग तथा नेल्सन मंडेला जैसे दुनिया के अनेक नेताओं को प्रेरित किया।

डिप्टी चीफ ऑफ मिशन अक्विनो विमल ने अपने संबोधन में यह भी कहा कि गांधी जी कभी चीन नहीं आए, हालांकि चीनी विचारकों ने उनके विचार और दर्शन को पहचाना और सराहना की है।

इसके बाद भारतीय दूतावास के स्वामी विवेकानंद सांस्कृतिक केंद्र के एक सांस्कृतिक दल ने गांधी जी की दैनिक प्रार्थना में गाया जाने वाला प्रसिद्ध भजन वैष्णन जन सुनाया। इसके अलावा, एक चीनी विद्यालय के बच्चों के एक दल ने अपने विद्यालय की ओर से संकलित गांधी के सबसे लोकप्रिय सूत्र वाक्यों का वर्णन किया।

महात्मा गांधी के प्रशंसकों ने यहां पार्क में स्थापित प्रतिमा पर श्रद्धांजलि अर्पित की। चीन के प्रशंसित मूर्तिकार और कलाकार युआन शिकुन ने वर्ष 2005 में यहां पार्क में गांधी जी की एक प्रतिमा स्थापित की थी। युआन ने यहां गांधी के अलावा रविंद्रनाथ टैगोर की प्रतिमा भी बनाई थी जिसे पार्क से जुड़े संग्रहालय में प्रदर्शित किया गया है।

(अखिल पाराशर)

शेयर