चीन में भारतीय राजनयिक दल की यात्रा

2018-09-11 11:27:57
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
9/10

 भारत चीन आदान-प्रदान के तहत भारतीय राजनयिक दल ने 2 से 7 सितंबर तक की पांच दिनों की चीन की यात्रा की जिसमें  श्रीलंका में भारत के उच्चायुक्त तरनजीत सिंह संधू, म्यांमार में भारत के राजदूत विक्रम मिस्री, अफ़ग़ानिस्तान में भारत के राजदूत विनय कुमार, कज़ाकिस्तान में भारत के उच्चायुक्त प्रभात कुमार और मलेशिया में भारत के उच्चायुक्त मृदुल कुमार शामिल थे।

 वर्ष 2016 में ऐसे ही आदान प्रदान के तहत भारत के तीन राजनयीकों ने चीन की यात्रा की थी।

 इस दल ने शांगहाई, हेफ़ेई और पेइचिंग की यात्रा की, 3 तारीख को भारतीय दल ने शांगहाई के छेनहुआ हेवी इंडस्ट्री कंपनी लिमिटेड और शांगहाई इलेक्ट्रिक कॉर्पोरेशन की यात्रा की, दूसरे चरण में भारतीय दल ने हेफेई की मेयर लिंग युन से मुलाकात की जिसमें उन्होंने भारत और हेफेई के बीच शहरी विकास, आपसी सहयोग और शहरी प्रबंधन पर बातचीत की। इसके बाद दल ने इफीटेक कंपनी की यात्रा की जो चीन की सबसे पहले स्थापित आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस, आवाज़ पहचानने की तकनीक बनाने वाली कंपनी है।  

वहीं पेइचिंग में भारतीय दल ने चीनी उप विदेश मंत्री कुंग श्युआनयू से चीन भारत आपसी सहयोग पर बात की इसके साथ ही दल ने एशिया विकास मंत्रालय के महानिदेशक वू च्यांगहाओ से अपने अपने राजनयीकों के एक दूसरे देशों की यात्रा बनाए रखने पर बात की। भारतीय दल ने चीन के चाईना इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंटरनेशनल स्टडीज़, सेंट्रल पार्टी स्कूल और पीएलए नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी की यात्रा भी की, और बाईदू के साथ सीना वीबो के युवा कर्मचारियों से बातचीत की।

पंकज।

 

 

 

 

 

शेयर