भारत में वेडिंग टूरिज्म बना एक नया ट्रेंड

2018-09-05 11:08:28
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/2

“अब भारतीय शादियां भारत आने वाले पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बन गई हैं। वेडिंग टूरिज्म भारत के पर्यटन उद्योग में एक नया ट्रेंड बनकर उभरा है,” पेटीट्स ट्रेवल एजेंसी के डायरेक्टर संदीप माधवन ने सीआरआई के साथ खास बातचीत में कहा।

चीन की राजधानी पेइचिंग में आयोजित भारतीय टूरिज्म रोड शो के दौरान संदीप माधवन ने खास बातचीत में कहा कि भारत आने वाले ज्यादातर विदेशी पर्यटक भारत की स्थानीय संस्कृति, खासतौर से कुछ रस्मों और समारोह को लेकर मंत्रमुग्ध हैं। भारत में अनेक टूर एंड ट्रैवेल्स कंपनियां इसी अनुभव को कम बजट में पर्यटकों के लिए उपलब्ध करवा रही हैं।

संदीप माधवन ने बताया कि अमेरिका, यूरोप, चीन आदि जगहों के पर्यटकों को भारतीय शादियां, चाहे दक्षिण भारतीय शैली हो, या उत्तर भारतीय शैली हो, देखना बहुत पसंद है। विदेशी पर्यटकों को वेडिंग टूरिज्म के लिए उदयपूर, जयपूर, जोधपूर, केरल, गोवा सबसे ज्यादा पसंद आते हैं। उनकी कंपनी भारत आने वाले विदेशी पर्यटकों को किसी भारतीय शादी में एक मेहमान के रूप में शामिल होने की सहूलियत देती है।

संदीप माधवन के अनुसार अब पर्यटन सिर्फ सैर-सपाटे तक ही सीमित नहीं है, बल्कि अब तो धार्मिक पर्यटन, मेडिकल पर्यटन, वैलनेस एंड हीलिंग विद नेचर पर्यटन, एडवेंचर यानी रोमांचक पर्यटन, फैट वेडिंग पर्यटन, ग्रामीण और कृषि पर्यटन के खांचे में बंटकर काफी विस्तृत हो गया है।

संदीप माधवन ने कहा कि जब से भारत सरकार ने ई-वीजा शुरू किया है तब से भारत आने वाले चीनी पर्यटकों की संख्या में बहुत बढ़ोत्तरी हुई है। उनके मुताबिक भारतीय दूतावास ने वीज़ा नियमों को लेकर बहुत नरमी दिखाई है, जिससे अब भारत आना बहुत आसान हो गया है।

(अखिल पाराशर)

शेयर