टिपण्णीः अमेरिकी ब्लैक होल के वैश्विक आर्थिक विकास पर कुप्रभाव पड़ने पर चेतावनी

2018-08-09 19:35:39
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/3

इस साल 8 मई को वाशिंगटन ने घोषणा की कि अमेरिका 2015 में संपन्न ईरानी नाभिकीय समस्या के तमाम समझौते से हटेगा। 7 अगस्त को इस कार्यवाई ने असर दिखाना शुरु कर दिया। अमेरिका ने ईरान के खिलाफ़ तमाम आर्थिक प्रतिबंध लगाने की बहाली की, जिसमें मोटर गाड़ी उद्योग, विमानन उद्योग, सोने और अन्य प्रमुख धातुओं के सौदे शामिल हैं। अमेरिकी सरकार ने धमकी दी कि जो लोग ईरान के साथ व्यापार करते हैं, वे अमेरिका के साथ व्यापार नहीं कर सकेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक फ्रांस के दो बड़ी मोटर गाड़ी ग्रुप पीज़ों साइट्रॉन और रेनॉ इससे प्रभावित हुई हैं। ध्यान रहे, गत वर्ष पीज़ों साइट्रॉन ने ईरान में 4.45 लाख गाड़ियां बेची हैं। आज उन्हें विवश होकर ईरान में अपना व्यवसाय बंद करना पड़ा है। इस साल की पहली छिमाही में ईरान में रेनॉ की बिक्री में भी 10 प्रतिशत की कटौती आयी है।

अमेरिका की मौजूदा सरकार द्वारा अपनायी गयी कुछ नीतियां मानों अंतरिक्ष में ब्लैक होल हों, जो अंधेरे में वैश्विक आर्थिक विकास के एक एक चमकदार बिंदु को नष्ट करते रहते हैं। ईरान के खिलाफ़ तमाम आर्थिक प्रतिबंध लगाना अमेरिका की इन नीतियों में से एक है।

  निसंदेह वाशिंगटन द्वारा छेड़ा गया ट्रेड वॉर वैश्विक आर्थिक विकास को नष्ट करने का अन्य एक अमेरिकी ब्लैक होल साबित होगा। हालांकि वह लखपति ने हाल में ट्रिवटर पर कहा कि अमेरिका ने ट्रेड वॉर जीता है। लेकिन विश्लेषकों का मानना है कि वैश्विक आर्थिक विकास के व्यापार से घनिष्ट संबंध है, खास तौर पर टैरिफ बढ़ाने से अंततः विश्व व्यापार मात्रा और वाणिज्य विश्वास पर असर पड़ेगा। परिणामस्वरूप आर्थिक ठहराव और मुद्रास्फीती साथ साथ अस्तित्व में रहेंगे और विश्व अर्थतंत्र मंदी में तनाव आएगा।

आईएमएफ ने चेतावनी दी थी कि विश्व अर्थतंत्र का अच्छा वक्त लम्बे समय के लिए नहीं रहेगा। अनुमान है कि 2020 में वैश्विक आर्थिक विकास दर अनुमान से 0.5 प्रतिशत कम होगी। विश्व बैंक ने जून माह में जारी एक रिपोर्ट में कहा गया कि ट्रेड विवाद के बढ़ने से वैश्विक व्यापार पर भारी असर पड़ेगा, जिसका प्रभाव 2008 के वित्तीय संकट के बराबर होगा। विकासमान देशों पर इससे और बड़ी क्षति पहुंचेगी। चूंकि प्रमुख आर्थिक विकास समुदाय के विकास पर उनकी निर्भरता और ऊंची है।

आजकल विश्व आर्थिक विकास गिर रहा है और मुद्रास्फीती बढ़ती जा रही है। वाशिन्टन सरकार द्वारा लागू की गयी हरेक नीति ने अमेरिका सरकार की कूटनीति की सबसे बड़ी विशेषता प्रतिबिंबित है, यानी अनिश्चितता। विश्व का सबसे बड़ा आर्थिक समुदाय और सबसे शक्तिशाली सुपर देश होने के नाते अमेरिकी सरकार को विश्व को निश्चितता देनी चाहिए। विश्व अमेरिकी ब्लैक होल नहीं चाहता है, क्योंकि वह एकदम सभी सुन्दरता और समृद्धि को नष्ट कर सकता है। इस समस्या का हल करने के लिए यह आवश्यक्त है कि अमेरिका सरकार टैरिफ बढ़ाने की नीति को त्यागे।

  (श्याओयांग)

शेयर