चीन और अमेरिका दोनों को खुलेपन का विस्तार करना चाहिए

2018-05-17 14:44:49
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

दसवां चीन-अमेरिका सीईओ और पूर्व वरिष्ठ अधिकारी वार्तालाप 16 मई को पेइचिंग में समाप्त हुआ। इसमें शरीक प्रतिनिधियों का समान विचार है कि दोनों देशों को खुलेपन का विस्तार करना चाहिए। यह चीन-अमेरिका आर्थिक और व्यापारिक संबंधों के विकास के हित में है। अमेरिकी प्रतिनिधियों का मानना है कि ऊंची टैरिफ़ दर वसूलना गलत है।

16 मई को आयोजित प्रेस वार्ता में अमेरिकी राष्ट्रीय वाणिज्य संघ के चीन केंद्र के निदेशक जेरीमे वार्टरमेन ने बल दिया कि अमेरिका द्वारा ऊंची टैरिफ़ दर वसूलना अमेरिकी हितों को नुकसान पहुंचाएगा। सवाल सुलझाने का उपाय बाज़ार बंद करने की जगह बाज़ार खोलना है। चीन अपने हितों के लिए सुधार और खुलेपन को अपना रहा है। अमेरिकी उद्यम चीन में अधिक मौका पाने की आशा करते हैं। यह साझा जीत का मौका है।

वार्तालाप के दौरान अमेरिका स्थित पूर्व चीनी राजदूत चो वेन चोंग ने बताया कि खुलेपन का विस्तार न सिर्फ चीन की ज़रूरत है, बल्कि चीन और अन्य देशों की समान कोशिशों की ज़रूरत भी है, ख़ासकर अमेरिका जैसे विकसित देशों को हमारे साथ एक ही दिशा में कदम उठाना है।  (वेइतुंग)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories