शांगहाई सहयोग संगठन के विभिन्न सदस्यों को ज्यादा सहयोग करना चाहिए

2018-04-10 12:29:41
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn
1/3
पाकिस्तान के पूर्व विदेश सचिव और चीन स्थित पूर्व राजदूत रियाज़ खोखर सीआरआई संवाददाता को इन्टरव्यू देते हुए

शांगहाई सहयोग संगठन यानी एससीओ का पहला जन मंच 9 अप्रैल को पश्चिमोत्तर चीन  के शानशी प्रांत की राजधानी शीआन में उद्घाटित हुआ। पिछले साल जून में एससीओ के अस्ताना शिखर सम्मेलन में भारत और पाकिस्तान औपचारिक रूप से सदस्य बने, जिससे जाहिर है कि एससीओ अपने नए स्तर पर पहुँच गया है। अब एससीओ दुनिया की आबादी का 44 प्रतिशत वाला पार-क्षेत्रीय बहुपक्षीय व्यापक संगठन बन गया है।

नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री माधव कुमार नेपाल ने कहा कि भारत, पाकिस्तान और नेपाल के लिए एससीओ और“बेल्ट एंड रोड”एक बहु-जीत वाला मंच है। आपसी पूरक और पारस्परिक सहयोग के लिए ज्यादा खुलापन चाहिए।

 पाकिस्तान के पूर्व विदेश सचिव और चीन स्थित पूर्व राजदूत रियाज़ खोखर ने कहा कि चीन और पाकिस्तान के बीच खास संबंध दोस्ती मौजूद हैं। पाकिस्तान चीन द्वारा किए गये समर्थन का आभार जताता है।“बेल्ट एंड रोड”की महत्वपूर्ण अग्रिम परियोजना के रूप में चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर से दोनों देशों के नेतों की दूरदर्शिता जाहिर होती है, जो दोनों देशों के बीच आपसी संपर्क में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

वहीं शांगहाई सहयोग संगठन के उप महासचिव लो क्वांगमिंग ने विश्वास जताते हुए कहा कि नए सदस्यों की भागीदारी से एससीओ को नई जीवन शक्ति मिलेगी और उसका भविष्य और उज्ज्वल होगा। 21वीं सदी में यूरोपीय और एशियाई मामलों और वैश्विक मामलों में शांगहाई सहयोग संगठन अधिकाधिक सक्रिय भूमिका निभाएगा।

(नीलम)

शेयर