ली खछ्यांग ने मुख्य अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों के प्रमुख नेताओं के साथ “1 प्लस 6” गोलमेज वार्ता की

2017-09-13 15:07:31
Comment
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने 12 सितंबर की सुबह चीन की राजधानी पेइचिंग के त्यायूथाई स्टेट गेस्टहाउस में विश्व बैंक के प्रमुख किम योंग, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के अध्यक्ष क्रिस्टीन लोगार्ड, विश्व व्यापार संगठन के महानिदेशक रॉबर्टो एज़ेवेडो, अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन के महानिदेशक गाई रायडर, आर्थिक सहयोग व विकास संगठन के महासचिव जोस एंजेल गुरिआ ट्रेविनो और वित्तीय स्थिरता परिषद के अध्यक्ष मार्क कार्नी के साथ दूसरी “1 प्लस 6” गोलमेज वार्ता की। इस वार्ता के पहले चरण का विषय विश्व आर्थिक स्थिति और आर्थिक वैश्वीकरण का विकास है। सातों नेताओं ने विश्व आर्थिक वृद्धि, सतत विकास, बहुपक्षीय व्यापार प्रणाली की रक्षा, आर्थिक वैश्वीकरण, श्रम बाजार नीति और अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय नियमन में सुधार आदि बातों पर विचार विमर्श किया।

ली खछ्यांग ने कहा कि वर्तमान में विश्व आर्थिक सुधार अधिक अनिश्चित और अस्थिर पहलू का सामना कर रहा है। इस साल के आरंभ में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने दावोस विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक में अपने रुख और प्रस्ताव प्रकट किये कि चीन बहुपक्षवाद, व्यापार उदारीकरण और मानव के सामान्य भाग्य का निर्माण जारी रखता है। चीन अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ फ्रैंक संचार को मजबूत करना और विश्व आर्थिक सुधार को संयुक्त रूप से बढ़ाना चाहता है।

ली खछ्यांग ने 5 प्रस्ताव पेश किये। पहला, मौजूदा विश्व अर्थव्यवस्था महत्वपूर्ण क्षण में है। सभी देशों को एक साथ मिलकर काम करना चाहिये। दूसरा, अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को संरचनात्मक सुधार को आगे बढ़ाना चाहिये। तीसरा, सभी देशों को नि: शुल्क व्यापार के आधार पर बहुपक्षीय व्यापार प्रणाली की रक्षा करनी चाहिये। चौथा, अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को विश्व आर्थिक वृद्धि की समग्रता को मजबूत करना चाहिये। पांचवां, संबंधित पक्षों को वित्तीय नियमन में सुधार को आगे बढ़ाना चाहिये।

 

(हैया)

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories