खबरें

दुनिया भर में कोविड-19 के कुल मामलों की संख्या 70 लाख से अधिक

अमेरिकी जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी द्वारा 7 जून को जारी आंकड़ों के अनुसार पूर्वी अमेरिका के समय के अनुसार 7 जून की रात को 11 बजकर 33 मिनट तक दुनिया भर में कोविड-19 के कुल मामलों की संख्या 70 लाख 9 हजार 65 तक पहुंची, जबकि मरने वालों की संख्या 4 लाख 2 हजार 7 सौ 30 हो गयी।

भारत :प्रवासी मजदूरों को अपने घर के नजदीक पर रोजगार मौका मिलेगा

भारत सरकार ने उन प्रवासी मजदूरों, जो कोविड-19 के प्रकोप से घर लौट गए थे, को आजीविका प्रदान करने के लिए एक योजना बनाई है। भारत सरकार के अधिकारी ने हाल ही में इस बात की पुष्टि की।   

श्रीलंका में हवाई अड्डे 1 अगस्त से फिर से खुलेंगे

श्रीलंका के पर्यटन मंत्रालय के मुताबिक श्रीलंका में हवाई अड्डे 1 अगस्त से फिर से खुलेंगे जब कि अंतर्राष्ट्रीय पर्यटकों को सुरक्षा के उच्चतम मानकों के साथ आवागमन की सुविधा होगी।  

सर्वेक्षण : अमेरिका गलत दिशा में आगे बढ़ रहा है

अमेरिका में अफ़्रीकी मूल पुरुष जॉर्ज फ़्लॉयड की मौत से पैदा विरोध प्रदर्शन अभी तक थमा नहीं है।

चिकित्सकों की दयालुता, असीमित प्यार

कोविड-19 महामारी की रोकथाम में चीनी लोगों ने एकजुट होकर भरसक प्रयास किया। चीनी चिकित्सकों ने साहस के साथ वायरस के साथ लड़ाई की और पूरी कोशिश से मरीजों का इलाज किया। उन्होंने अकल्पनीय शारीरिक और मनोवैज्ञानिक दबाव का सामना किया और दयालुता दिखाई।

चीन ने किस तरह किया कोविड-19 का मुकाबला

पिछले कई महीनों से पूरी दुनिया कोरोना वायरस की मार झेल रही है। लेकिन चीन ने इस वायरस को काबू में करने में सफलता हासिल कर ली है। चीन ने इस जटिल चुनौती का मुकाबला कैसे किया, यह बात बहुत ध्यान देने वाली है। यहां बता दें कि चीन को जैसे ही हूबेई प्रांत में वायरस द्वारा पैर पसारे जाने की जानकारी मिली, वहां लॉकडाउन कर दिया गया। इसके साथ ही देश के अन्य हिस्सों में भी वायरस से बचाव व सुरक्षा के लिए सभी जरूरी कदम उठाए गए। चीन की मेहनत और सख्त नियम का नतीजा यह हुआ कि कुछ ही महीनों में वायरस को बहुत हद तक कंट्रोल कर लिया गया।

चीन में कोविड-19 के खिलाफ संघर्ष करने में सबसे महत्वपूर्ण अनुभव है जनता को प्राथमिकता देना

चीन सरकार ने 7 जून को "कोविड-19 के खिलाफ चीन की कार्रवाई" श्वेत पत्र जारी कर नये कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम में चीनी जनता के कठोर संघर्षों का परिचय दिया। 37 हजार शब्दों से लिखित इस श्वेत पत्र ने एक ही विचारधारा दर्शाया है यानी कि जनता को प्राथमिकता दी जानी चाहिये। इसी विचार से चीन ने तीन महीनों के भीतर इस संक्रमण को खत्म करने में सफलता पायी।

चीन में देसी-विदेशी आवाजाही कदम-ब-कदम हो रही है बहाल

वर्तमान में चीन विभिन्न देशों के साथ सहयोग मजबूत कर रहा है, ताकि सुरक्षित तरीके से कदम-ब-कदम देसी-विदेशी व्यक्तियों के बीच आवाजाही बहाल की जा सके, और साथ ही कामकाज व उत्पादन की बहाली तथा अंतरराष्ट्रीय उद्योग श्रृंखला व आपूर्ति श्रृंखला की सुरक्षा और स्थिरता के लिए सेवा की जा सके।

चीन ने कोरोना वायरस के टीके के विकास पर अंतरराष्ट्रीय सहयोग मजबूत किया

चीनी राज्य परिषद ने 7 जून को "कोविड-19 के खिलाफ़ चीन की कार्रवाई" शीर्षक श्वेत पत्र जारी किया। चीनी विज्ञान और तकनीकी मंत्री वांग जीकांग ने संबंधित न्यूज़ ब्रीफिंग में कहा कि कोविड-19 के खिलाफ़ टीके के अनुसंधान में सुरक्षा, कारगरता और पहुंच क्षमता को प्रधानता दी जानी चाहिए, इसके साथ ही अंतरराष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करना चाहिए।  

कोविड-19 के मुकाबले में चीन की देश प्रशासन क्षमता और समग्र राष्ट्रीय शक्ति दिखी

​चीनी राज्य परिषद के समाचार कार्यालय ने 7 जून को "नये कोरोना निमोनिया के खिलाफ चीन की कार्रवाई" पर श्वेत पत्र जारी किया। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय कमेटी के उप प्रचार मंत्री, चीनी राज्य परिषद के समाचार कार्यालय के प्रधान शू लीन ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि महामारी के मुकाबले से चीन की देश-प्रशासन क्षमता और समग्र राष्ट्रीय शक्ति दिखायी गयी है।

"नई खपत · लव लाइफ - पेइचिंग उपभोक्ता सीजन" शुरू

बाजार में आर्थिक गतिविधियों की बहाली को बढ़ाने के लिए 6 जून को चाइना मीडिया ग्रुप और पेइचिंग शहर की सरकार ने संयुक्त रूप से "नई खपत · लव लाइफ - बीजिंग उपभोक्ता सीजन" शीर्षक गतिविधि का आयोजन किया।

भारत में कोविड-19 के मामलों की संख्या इटली से अधिक पहुंची

भारतीय स्वास्थ्य विभाग द्वारा 6 जून को जारी आंकड़ों के अनुसार उसी दिन भारत में कोविड-19 के कुल 9887 नये मामले सामने आये। देश में कोविड-19 मामलों की कुल संख्या 236657 तक पहुंची, जो इटली से अधिक हो गयी है। भारत दुनिया में सबसे अधिक मामले वाला छठा देश बन गया है।

HomePrev...44454647484950NextEndTotal 50 pages