खबरें

विश्व बैंक : द्वितीय महायुद्ध के बाद वैश्विक अर्थव्यवस्था सबसे गंभीर संकट में

विश्व बैंक ने 8 जून को ताज़ा "वैश्विक आर्थिक आउटलुक" रिपोर्ट जारी कर कहा कि कोविड-19 की वजह से इस वर्ष विश्व अर्थव्यवस्था में गिरावट नजर आएगी। प्रति व्यक्ति के लिए उत्पादन में गिरावट होने वाली अर्थव्यवस्थाओं का अनुपात सबसे अधिक स्तर पर पहुंचेगा।

भारतः कोविड-19 पुष्ट मामलों की संख्या ढाई लाख, लॉकडाउन में ढील

​70 दिनों के लॉकडाउन के बाद भारत ने 8 जून से रेस्तरां, शॉपिंग मॉल और धार्मिक स्थलों के फिर से खुलने को मंजूरी दी है। यह भारत में चरणों में लॉकडाउन में ढील देने का पहला कदम है। पर उसी दिन नये पुष्ट मामलों की संख्या लगभग दस हजार तक रही और कुल मामलों की संख्या ढाई लाख से अधिक हो गयी है।

बांग्लादेश पहुंचा चीनी चिकित्सा विशेषज्ञ दल

चीन सरकार द्वारा भेजा गया एक चिकित्सा विशेषज्ञ दल 8 जून को बांग्लादेश की राजधानी ढाका पहुंचा। बांग्लादेश स्थित चीनी राजदूत ली चीमिंग, बांग्लादेश के विदेश मंत्री अब्दुल मुमेन आदि ने हवाई अड्डे पर उनका स्वागत किया।

दूसरों पर आरोप लगाना और जिम्मेदारी थोपना टीके के अनुसंधान के लिए लाभदायक नहीं

कोविड-19 एक नया वायरस है, जिसका फैलाव पूरी दुनिया में हो रहा है। हम अभी तक इस कोरोनावायरस से अंजान हैं, इसलिए टीका ही एकमात्र सशक्त वैज्ञानिक हथियार है, जो महामारी खत्म कर सकता है और अर्थव्यवस्था को बहाल कर सकता है। 

डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 पर निरंतर चेतावनी देने की अपील की

विश्व में कोविड-19 महामारी की स्थिति निरंतर रूप से बिगड़ रही है।

कोविड-19 महामारी के फैलने से मंदी में फंसता विश्व अर्थतंत्र

मध्य यूरोपीय समयानुसार 8 जून की सुबह 10 बजे तक विश्व में कोविड-19 के नये पुष्ट मामलों की संख्या 131296 है, जिसकी कुल संख्या बढ़कर 6931000 तक चली गई है। कोविड-19 से मरने वालों की कुल संख्या 400857 तक पहुंच गई है

चीन में महामारी की रोकथाम का काम खुला और पारदर्शी है

चीन सरकार ने 7 जून को "कोविड-19 के खिलाफ चीन की कार्रवाई" श्वेत पत्र जारी कर चीन में महामारी की रोकथाम के कार्यों का सारांश किया। जिससे यह साबित हुआ है कि चीन में महामारी की रोकथाम का काम बिल्कुल खुला और पारदर्शी है, जो विश्व की सार्वजनिक चिकित्सा सुरक्षा के लिए जिम्मेदार भी है।

चीन और म्यांमार के नेताओं ने राजनयिक संबंधों की 70वीं जयंती पर एक दूसरे को बधाई दी

​8 जून को चीन और म्यांमार के बीच राजनयिक संबंधों की 70वीं जयंती पर चीन और म्यांमार के नेताओं ने एक दूसरे को बधाई संदेश भेजा।  

महामारी के झटकों से उबर रही है चीनी अर्थव्यवस्था

कोविड-19 की महामारी ने पूरी दुनिया को परेशान कर रखा है। एक ओर वायरस के कारण लोगों के स्वास्थ्य के लिए खतरा बना हुआ है, वहीं लॉकडाउन आदि से अर्थव्यवस्था को बहुत नुकसान हो रहा है। जैसा कि हम जानते हैं कि चीन ने सबसे पहले इस मुसीबत का सामना किया और कुछ ही महीनों में महामारी को नियंत्रित भी कर लिया है। चीन सरकार के जबरदस्त प्रयासों से अर्थव्यस्था शुरुआती झटकों से उबरने लगी है। जिसके सकारात्मक परिणाम आने वाले दिनों में दिखेंगे।

न्यूयार्क में कोरोना वायरस की प्रारंभिक पहुंच यूरोप और दूसरे अमेरिकी जगहों से हुई

हाल ही में अमेरिकी पत्रिका “विज्ञान” के एक नए शोध से पता चला है कि अमेरिका में कोविड-19 महामारी की गंभीर स्थिति वाले इलाके न्यूयार्क में कोरोना वायरस की प्रारंभिक पहुंच यूरोप और दूसरे अमेरिकी जगहों से हुई।

मुंबई में च्यांगशी प्रांतीय निर्यातित वस्तुओं का ऑनलाइन मेला आयोजित

हाल ही में चीन के च्यांगशी प्रांत की निर्यातिक वस्तुओं का ऑनलाइन मेला मुंबई में उद्घाटित हुआ। मुंबई में चीनी कांसुलर जनरल थांग क्वोछाई, च्यांगशी प्रांत की उप गवर्नर वू चोंगछ्योंग, च्यांगशी प्रांतीय वाणिज्य मामला विभाग के प्रधान श्ये यीफिंग, अखिल भारतीय प्लास्टिक उद्योग संघ के अधीन विशेषज्ञ समिति के अध्यक्ष हर्षद देसाई आदि प्रतिनिधियों ने उद्घाटन समारोह में भाग लिया।

महामारी की रोकथाम में चीनी औषधि की कारगर भूमिका

कोविड-19 महामारी की रोकथाम और मरीजों के उपचार में चीनी औषधि ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। आंकड़ों के अनुसार 92 प्रतिशत मरीजों के इलाज में चीनी औषधि का इस्तेमाल किया गया। 

HomePrev...43444546474849...NextEndTotal 50 pages