चीनी कम्युनिस्ट पार्टी

中国国际广播电台


    चीनी कम्युनिस्ट पार्टी चीनी मजदूर वर्ग का हिरावल दस्ता होने के नाते चीनी जनता और चीनी राष्ट्र का हिरावल दस्ता भी है, वह चीनी विशेषताएं वाले समाजवादी कार्य का नेतृत्वकारी केन्द्र है, और चीन की प्रगतिशील उत्पादक शक्तिय के विकास के निवेदन, चीन की प्रगतिशील संस्कृति की दिशा और सर्वाधिक चीनी जनता के मूल हित की प्रतिनिथि है।

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का सर्वोच्च कल्पना और अंतिम लक्ष्य कम्युनिज़्म साकार करना है। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के चार्टर में निर्धारित है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का मार्गदर्शन मार्क्सवाद, लेनिनवाद, माउ त्से-तुंग विचारधारा, तंग श्याओ-फिंग की सिद्धांत और तीन प्रतिनिधित्व वाली महत्वपूर्ण निचारधारा है।

  

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की स्थापना जुलाई 1927 में हुई। वर्ष 1921 से 1949 के बीचके दौरान, उसने साम्राज्यवाद, सामंतवाद और नौकरशाही पूंजीवाद के शासन का तख्ता उलटने और चीन लोक गणराज्य की स्थापना के अत्यंत कठोर संघर्ष में चीनी जनता का नेतृत्व किया ।

नए चीन की स्थापना के बाद, चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने राष्ट्र की स्वतंत्रता औस सुरक्षा के संरक्षण में, चीनी समाज को नव जनवादी समाज से समाजवादी समाज के सफल बदलने में, योजनाबद्ध और बड़े पैमाने वाले समाजवादी निर्माण का आरम्भ करने में देश की सभी जातियों की जनता का नेतृत्व किया। इस तरह चीन के आर्थिक व सांस्कृतिक कार्य में अभूतपूर्व भीमकाय प्रगति आई।

 

    वर्श 1956 में चीन में उत्पादक साधन की व्यक्तिगत व्यवस्था का समाजवादी सुधार पूरा हुआ। इस के बाद अनुभवों की कमी के कारण चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने समाजवादी निर्माण के कार्य में गलतियां की। वर्श 1966 से 1976 के बीच के दीर्खकाल में उस ने देश बर में सांस्कृतिक महा क्रांति छेड़ कर गंभीर गलती की।

  

    अक्तुबर 1976 में सांस्कृतिक महा क्रांतिसमाप्त हुई, चीन का विकास नई ऐतिहासिक मंजिल पर चढ गई। वर्श 1978 के अंत में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 11 वीं केन्द्रीय कमेटी का तीसरा पूर्णाधिवेशन आयोजित हुआ। तिवंगत तंग श्याओफिंग ने अधिवेशन में आर्थिक सुधार और विदेशों के लिए खुले द्वार की नीति पेश की नए चीन की स्थापना के बाद यह अधिवेशन गहरा व दूरगामी मोड़ माना जाता है। वर्श 1979 से चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने सुधार और खुले द्वार की नीति अपनाना शुरू कर दिया।

तब से चीन के राष्ट्रीय अर्थतंत्र और समाज के विकास में उल्लेखनीय कामयाबियां प्राप्त हुईं, देश की रूपरेखा में बड़ा काया-पलट आया। नए चीन की स्थापना के बाद से इस की सिथिति सब से उम्दा रही है, जनता को भी सब से ज्यादा कल्याण पाया।

 

    चीनी कम्युनिस्ट पार्टी विदेशों के साथ संबंधों के विकास और चीन के खुले द्वार की नीति व आधुनिकीकरण के निर्माण के लिए अनुकूल अंतरराष्ट्रीय परिस्थिति तैयार करने में सक्रिय है। अंतरराष्ट्रीय मामलों में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी स्वतंत्र, स्वावलंबी और शांतिपूर्ण वैदेशिक नीति पर डटे रही है, चीन की स्वतंत्रता और प्रभुसत्ता की हिफाजत करती है, प्रभुत्ववाद और बल राजनीति का विरोध करती है, विश्व शांति के संरक्षण व मानवजाति की प्रगति को आगे बढ़ाने में सक्रिय है। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी एक दूसरे की प्रभुसत्ता के समादर और प्रादेशिक अखंडता, एक दूसरे की अतिक्रमण न करने और एक दूसरे के अंतरूनी मामलों में दखल न देने, समानता और आपसी लाभ व शांतिपूर्ण सहअस्तित्व के पांच सिद्धांतों के आधार पर विशव के सभी देशों के साथ संबंधों के विकास में सक्रिय है।

स्वतंत्रता, पूर्ण समानता, आपसी सम्मान और एक दूसरे के अंदरूनी मामलों में दखल न देने वाले चार सिद्धांतों के आधार पर चीनी कम्युनिस्ट पार्टी विशव के सभी देशों की राजनीतिक पार्टियों के साथ दोस्ती बनाने में सक्रिय है। अब चीनी कम्युनिस्ट पार्टी 120 से ज्यादा देशों की तीन सौ से अधिक पार्टियों के साथ मैत्रीपूर्ण संपर्क होता रहा है।

    चीनी कम्युनिस्ट पार्टी एक ऐसा एकीकृत समूह है, जो अपने कार्यक्रम और चार्टर के तहत लोकतंत्री व केन्द्रित राजनीतिक व्यवस्था के नियम से गठित है। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी चार्टरके अनुसार ऐसे चीनी मजदूर, किसाम, सैनिक, बुद्धिजीवी या अन्य सभी सामाजिक वर्गों के प्रगलिशील सदस्य, उस की उम्र 18 साल के ऊपर है, वे पार्टी के प्रोग्राम और चार्टर को मान्यता देते हैं, पार्टी की शाखा में शामिल होकर उस में सक्रियता के साथ काम करने पार्टी के प्रस्ताव का पालन करने और समय पर फीस चुकाने को तैयार है, तो उन्हे पार्टी की सदस्यता पा सके।

  

    चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के केन्द्र स्तरीय संगठन में राष्ट्रीय कांग्रेस, केन्द्रीय कमेटी, केन्द्रीय राजनीतिक ब्यूरो, ब्यूरो की स्थाई कमेटी, केन्द्रीय सचिवालय, केन्द्रीय फौजी आयोग और केन्द्रीय अनुशासन कमेटी शामिल हैं। राष्ट्रीय कांर्गेस पांच सालों में आयोजित होती है। राष्ट्रीय कांग्रेस समाप्त होते समय चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की सर्वोच्च नेतृत्वकारी संस्था केन्द्रीय कमेटी है।

      इस समय चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के करीब 7 करोड़ सदस्य हैं और मौजूदा महा सचिव श्री शी चिनफिंग हैं।