सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

सामाजिक गतिविधियों में महिलाओं की भागीदारी

2017-08-15 16:26:35
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन में आर्थिक व सामाजिक निरंतर विकास के साथ साथ, सामाजिक गतिविधियों में चीनी महिलाओं की भागीदारी भी बढ़ गयी।

चीन के पश्चिमी भाग के जोरदार विकास की रणनीति के अनुसार, चीन ने पश्चिमी भाग की सुन्दर जन्मभूमि का निर्माण करने का अभियान चलाया , जिस के तहत, लगभग 20 करोड़ चीनी य्वान की पूंजी लगाकर पेय जल तालाबों का निर्माण किया गया और पश्चिमी भाग के 7 लाख 80 हजार लोगों के लिए जल की कमी समस्या हल करने में मदद दी गई , इस के अलावा महिलाओं में जन्मभूमि के वातावरण को सुन्दर बनाने की गतिविधि का भी आयोजन किया गया और तीन मार्च हरित परियोजना का जोरदार से आयोजन किया गया । अखिल चीन महिला संघ को संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण विकास कार्यक्रम द्वारा 500 विश्व सर्वश्रेष्ठ संघ का नाम प्रदान कर सम्मानित किया गया।

चीन सरकार ने नागरिकों की नैतिकता विकास व कार्यावयन कार्यक्रम और चीनी छोटे नागरिकों की नैतिक विकास योजना को अंजाम देने और युवा पीढ़ी में देशभक्तिवादी पुस्तक अध्ययन की गतिविधि का आयोजन किया। चीन के करोड़ बाल किशोरों ने इस गतिविधि में उत्साह के साथ भाग लिया। इस गतिविधि से बाल किशोरों में अच्छी नैतिक विचारधरण एवं शिष्टाचार विकसित हुआ है।

पारिवारिक शिक्षा के अवधारण में परिवर्तन पर प्राथमिकता देते हुए पारिवारिक शिक्षा कार्य को गहन करने, अच्छा प्रजनन् व अच्छा पालन पोषण के ज्ञान का प्रसार करने का काम जोरों पर है , संबंधित विभागों से मिलकर माता-पिता के प्रशिक्षण के लिए 3 लाख स्कूलों की स्थापना की गई है । अब पारिवारिक शिक्षा सोसाइटी 70 प्रतिशत से ज्यादा काऊंटियों, प्रिफेक्चरों और शहरों में स्थापित हुई है । इन सोसाइटियों ने व्यापक माता- पिता का शिक्षा स्तर उन्नत करने में मदद दी है।

छ्वन लेई योजना अर्थात फुल कली योजना, स्वास्थ्य लाभ योजना, चीनी बाल परोपकार दिवस आदि बड़ी सामाजिक कल्याण गतिविधियों को देश विदेश के अनेक लोगों का समर्थन हासिल हो गया है, जिन से 30 करोड़ चीनी य्वान की पूंजी इकट्ठा हुई है। इन गतिविधियों ने गरीब क्षेत्रों के बाल किशोरों के जीवन व विकास की स्थिति सुधारने में योगदान किया है।

आदर्श सभ्य परिवार निर्माण की गतिविधि हमेशा चीनी महिला संघ के परम्परागत कार्य क्षेत्र के अन्तर्गत होती है। महिला संघ ने 50 के दशक से ही आदर्श सभ्य परिवार चुनने की कार्वाही शुरू की थी। वर्ष 1999 के अंत तक, देश के विभिन्न स्थानों में आदर्श परिवार के पांच मापदंडों के मुताबिक प्रांत स्तर व राष्ट्रीय स्तर के तीस हजार आदर्श सभ्य परिवारों को चुन कर पुरस्कार प्रदान किया गया । आदर्श परिवारों की कहानियां समय समय पर समाचार माध्यमों में छपी गयी। सरकार ने विभिन्न रूपों की सांस्कृतिक गतिविधियों से व्यापक शहरों व काऊंटियों में उन का प्रचार प्रसार किया । परिवारों के जीवन को आधुनिक समाज के अनुरूप बनाने और सभ्यता, स्वास्थ्य व वैज्ञानिक जीवन पद्धति को लोकप्रिय करने के लिए चीन के विभिन्न स्थानों के महिला संघों ने रंग बिरंगे व विविध पारिवारिक सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन किया और परिवार के सदस्यों को सही विश��वदृष्टिकोण , जीवन अवधारण व मूल्य अवधारण की स्थापना के लिए मदद दी। इन के अलावा, विभिन्न स्तरीय महिला संघों ने पारिवारिक सांस्कृतिक उत्सवों, पारिवारिक खेल समारोहों के जरिए विभिन्न परिवारों को एक सुलह व शान्त वातावरण व एकजुटता की स्थापना करने में मदद दी है। परिवारों के बीच लिपिकला , चित्र कला , हस्तशिल्प आदि विषयों पर प्रतियोगिता का आयोजन कर कला के आदान प्रदान की गतिविधियों तथा रिहाइशी कमरों के सजावट, व्यंजन कला, वस्त्र आभूषण समेत घरों का वैज्ञानिक प्रबंध करने की गतिविधियों के जरिए लोगों में जीवन आदर्श भावना और विश्वास जगाया जाता है।

चीन के गांवों में गरीबी उन्मूलन , समृद्धि की प्राप्ति और विज्ञान व तकनीक से ग्रामीण विकास की गतिविधियों से किसानों को बुरी पुरानी प्रथाओं व मान्यताओं को त्यागने , चिकित्सा व स्वास्थ्य को बढ़ाने और पर्यावरण को सुन्दर बनाने , मेहनती से समृद्धि प्राप्त करने और जीवन गुणवत्ता को उन्नत करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है । चीन के कुछ प्रांतों में पांच परिवर्तन(पेय जल, लहर , सड़क, सार्वजनिक शॉचालय व पशु बाड़ा में सुधार ), चार साफ़(पेय जल , सड़क, घर आंगन व कमरा साफ़ सुथरा), और तीन सुव्यवस्थित (मकान , गोदाम व रहन सहन सुव्यवस्थित ) का अभियान चलाने से बड़े पैमाने पर गांवों व किसान परिवारों की सूरत सुधार दी गई है। चीन के विभिन्न शहरों व कस्बों में नागरिकों में सभ्य इमारत , रिहाइशी बस्ती व परिवार से प्यार , पड़ोसियों से मेलमिलाप जैसी गतिविधियों के आयोजन से व्यक्ति व व्यक्ति के बीच समझ व संपर्क बढ़ाया गया है, जिन से परिवारजनों के सामाजिक कर्त्तव्य की भावना बढ़ायी गयी है। चीन के अनेक प्रांतों व शहरों में महिला, जन्मस्थान और पर्यावरण के विषय पर पर्यावरण की जानकारी बढ़ाने की कार्यवाइयां की गई , पर्यावरण संरक्षण की ज्ञान का प्रचार किया गया , परिवारजनों में पर्यावरण संरक्षण की चेतना को उन्नत किया गया है। शहरी नागरिकों ने कचरों का वर्गीकरण कर रखा जाने , ऊर्जा की किफ़ायत करने, हरित भूमि की ठेके पर देखरेख , पेड़ों के रोपन जैसी बस्तियों को साफ़ सुथरा व सुन्दर बनाने वाली पर्यावरण संरक्षण गतिविधियों से बस्तियों के सभ्यता निर्माण को जोरदार रुप से आगे बढ़ाया है।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories