सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

मरकर भी तेरा साथ नहीं छोड़ेगें

2017-08-15 15:30:46
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चुंग सान के राजा श्वी तुंग की पत्नी ल्यांग इ ने एक लड़की को जन्म दिया, बेटे को जन्म न दे पाने के डर से उसने एक लड़के को गोद में लेकर अपनी सगी बेटी से बदल दिया, जाते समय उसने अपनी जन्मी बेटी के कंधे पर गर्म तार से एक लाल रंग की निशानी छोड़ी। उसने अपनी गोद लिए बेटे का नाम छवी थ्येन पाओ रखा।

18 साल के बाद , महल के मंत्री का बेटा छांग मिंग ने एक नाचने वाली लड़की पाए ली इन को छीनने की कोशिश में उसके पिता की हत्या कर डाली। छवी थ्येन पाओ ने नृतकी पाए ली इन को छांग मिंग के चुंगल से बचा लिया, छांग मिंग के बदला लेने के डर से उसने लड़की को एक मामूली घर में छिपा दिया। धीरे धीरे नृतकी लड़की पाए ली इन और छवी थ्येन पाओ के बीच प्यार होने लगा, दोनों ने मरते दम एक साथ रहने की कसम खाई।

लेकिन थ्येन पाओ की मां ली इन जैसी गरीब लड़की के साथ अपने बेटे ते आने जाने पर बहुत नाराज थी , वह नृतकी के घर उसे कोचने व पीटने गई, अचानक पीटते समय उसने ली इन के कंधे पर लाल रंग का निशान देखा तो क्षुब्द हो गई, उसे मालूम हुआ कि यह नृतकी उसी की ही सगी बेटी है। उसी समय राजा ने अपनी बेटी का रिश्ता थ्येन पाओ से पक्का कर दिया और थ्येन पाओ को राजकुमार बना दिया।लेकिन ली इन के प्यार ने उसे राजकुमारी से अलग रखा, राजकुमारी ने गुस्से में नृतकी ली इन को जान से मार डालने की साजिश रची, इस पर थ्येन पाओ ने अपनी पत्नी राजकुमारी को थप्पड़ मारा।

राजकुमारी ने पिता महाराजा से थ्येन पाओ की शिकायत की, राजा ने सोचा कि यह दो नौजवान मीया बीवी के बीच मामूली अनबनी ही है, सो राजकुमारी की बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया। उधर छांग मिन के दिल में थ्येन पाओ से बदला लेने की आग भड़क रही थी, उसने राजा को बताया कि थ्येन पाओ ने नृतकी ली इन के वास्ते ही राजकुमारी के मुह पर थप्पड़ मारा था। राजा ने क्रोध में आकर ली इन को मार डालने का हुक्म दिया। थ्येन पाओ की मां को मालूम था कि नृतकी ली इन उसकी सगी बेटी है, उसने राजा के आगे असलियत को खोल दिया, राजा बड़े क्रोधित हुए और उसने थ्येन पाओ की मां और उसके पिता को महल से खदेड़ देने व थ्येन पाओ को फांसी देने का आदेश जारी कर दिया, और फांसी चढ़ाने की जिम्मेदारी छांग मिंग को सौंपी।

फांसी के दिन पाए ली इन और थ्येन पाओ का मिलन हुआ, फांसी चढ़ाने के ढोल की आवाज बजने ही वाली थी, फांसी के तख्ते पर चढ़ने के उसी समय पाए ली इन ने घर में अपने गले रस्सी डालकर आत्महत्या कर ली। इसी एन वक्त पर राजकुमारी महाराजा का आदेश लिए फांसी के स्थान पर पहुंची और राजा के थ्येन पाओ को फांसी सजा माफ करने का हुक्म पढ़ कर सुनाया।

थ्येन पाओ को फिर से राजकुमार बनाया गया। लेकिन थ्येन पाओ का ली इन का प्यार और जीवन भर एक साथ रहने की कसम ने उसे इ लिन की याद के गम में डुबो दिया। वह फौरन ली इन के घर पहुंचा और अपनी बाहों में इ लिन के शव को लिए गहरी रात की आंधी बारिश में अपनी प्यार की मंजिल की ओर चल निकला।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories