सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

ल्यू वन चिन

2017-08-15 14:03:28
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

ल्यू वन चिन चीन का मशहूर संगीतकार हैं । वे वर्ष 1961 में चीनी केंद्रीय संगीत कॉलेज से स्नातक हुए और चीनी केंद्रीय जातीय संगीत मंडली के नेता व कला निरीक्षक तथा चीनी नृत्यनाटक मंडली के नेता रहे । वर्तमान में वे चीनी नृत्यनाटक मंडली के कला निर्देशक के अलावा चीनी संगीतकार संघ के परिषद सदस्य,चीनी संगीत बौद्धिक संपदा अधिकार संघ की स्थाई समिति के सदस्य तथा चीनी जातीय वाद्य कला संघ के उपाध्यक्ष हैं । वर्ष 2001 में वे दक्षिण कोरिया के केंद्रीय विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय संगीत कॉलेज द्वारा कॉलेज के प्रोफेसर नियुक्त हुए ।

अपनी युवावस्था में ल्यू वन चिन एक श्रेष्ठ छात्र थे, उन्हें चीनी केंद्रीय संगीत कॉलेज में सब से श्रेष्ठ विद्यार्थी के पुरस्कार से सम्मानिक किया गया । " उत्तरी ह नान प्रांत की कहानी"तथा "त्रिघाटी की कल्पना" दोनों धुनें ल्यू वन चिन ने कॉलेज में रची थीं , जिसे चीनी परम्परागत वाद्य अर्हू पर प्यानो के साथ बजाने वाली श्रेष्ठ रचना मानी जाती है । वर्ष 1993 में "उत्तरी ह नान प्रांत की कहानी"नामक संगीत को 20वीं शताब्दी में चीनियों के श्रेष्ठ संगीतों में से एक चुना गया । वर्ष 1999 में त्रिघाटी की कल्पन "नामक धुन नये चीन की स्थापना की 50वीं जयंती के मौके पर नए चीन की श्रेष्ठ कलाकृति चुनी गयी । वर्ष 1982 के मई माह में उन की "लम्बी दिवार की याद"नामक धुन "शांग हाई का वसंत"संगीत समारोह में प्रस्तुत की गई और सफलता भी प्राप्त हुई और फिर तीसरी चीनी राष्ट्रीय संगीत रचना प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ रचना का पुरस्कार हासिल किया गया । इधर के वर्षों में "लम्बी दिवार की याद" धुन को देश के अधिकांश प्रांतों,शहरों व हांगकांग , मकाओ तथा थाईवान क्षेत्रों और यूरोप, अमरीका तथा एशिया के दसेक देशों में प्रस्तुत किया गया, जिसे दर्शकों का हार्दिक स्वागत मिला।

चालीस वर्षों में ल्यू वन चिन ने बड़ी संख्या में जातीय वाद्य की धुनें बनायीं और पुनः रचित कीं तथा सैकड़ों अन्य विषयों की धुनें रचीं, इस के अलावा, वे नृत्य, नृथ्यनाटक ,फिल्म तथा टी.वी.धारावाहिक के लिए भी धुन लिखते हैं । उन्होंने विशाल आकार वाले संगीत नृत्य कार्यक्रम "चीनी क्रांतिकारी गीत" के संगीत बनाने के काम में भी भाग लिया ।

ल्यू वन चिन को चीनी जातीय संगीत क्षेत्र में संगीतकार ल्यू थ्येन ह्वा के बाद सब से प्रतिनिधित्व वाले संगीतकार माना जाता है । हांगकांग की चीनी संगीत मंडली ने वर्ष 1989 के सितम्बर माह में विशेष तौर पर"ल्यू थ्येन ह्वा से ल्यू वन चिन तक"शीर्षक संगीत समारोह आयोजित किया ।

उत्तरी अमरीका के चीनी संगीत अनुसंधान केंद्र की पत्रिका "चेस म्युज़िक" में ल्यू वन चिन को"चीन की मुख्य भूमि में सब से प्रभावकारी संगीतकारों में से एक"माना गया और ल्यू वन चिन की संगीत रचनाओं के विवेचन व समीक्षा संबंधी सिलसिलेवार लेख प्रकाशित किये गये ।

ल्यू वन चिन अनेक बार निमंत्रण पर यूरोप, अमरीका और एशिया के दसेक देशों तथा चीन के हांगकांग , मकाओ व थाईवान आदि क्षेत्रों की यात्रा की ।हांगकांग, सिंगापुर तथा थाईवान की चीनी संगीत मंडलियों ने अधिक बार उन की रचनाओं पर विशेष व्यक्तिगत संगीत सभाएं आयोजित कीं । उन्होंने जापान और दक्षिण कोरिया के संगीतकारों के साथ संयुक्त रूप से एशिया संगीत मंडली की स्थापना की ।

ल्यू वन चिन को चीनी संस्कृति मंत्रालय द्वारा विशेष योगदान वाले कलाकार के पुरस्कार से सम्मानित किया गया , और उन्हें चीनी राज्य परिष्द के श्रेष्ठ संगीतकार प्रमाण पत्र हासिल हुआष ।

[ल्यू वन चिन की कलाकृति]:《लम्बी दिवार की याद》 

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories