सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

ल्यू मिंग य्वान

2017-08-15 14:41:06
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

संगीतकार ल्यू मिंग य्वान इधर की आधी शताब्दी में चीन में सब से श्रेष्ठ जातीय वाद्याकारों में से एक थे । चीनी और अंतरराष्ट्रीय संगीत क्षेत्र में ल्यू मिंग य्वान बहुत मशहूर थे । ल्यू मिंग य्वान को पान हू, अर्हू, चोंग हू, चिंग हू तथा च्वे हू आदि चीनी परम्परागत वाद्य बजाने में पारंगत थे । उन्होंने चीनी ऑपेरा तथा स्थानीय संगीत की शैली पर महारत हासिल की , जो अब तक अतूल्य है ।

वर्ष 1931 में ल्यू मिंग य्वान का जन्म थ्येन चिन शहर में हुआ । छै साल की उम्र में वे अपने पिता से पान हू और चिंग हू वादन सीखने लगे । ग्यारह वर्ष की उम्र में वे थ्येन चिन संगीत मंडली में प्रवेश कर गए । इस दौरान उन्होंने क्वांग तोंग प्रांत के संगीत, पेइचिंग ऑपेरा, फिंगच्यु ऑपेरा, ह बेई प्रांत का ऑपेरा आदि सीखे । वर्ष 1947 से वर्ष 1952 तक वे थ्येन चिन की कई नृत्य गान मंडलियों के संगीत दलों में काम करते थे। वर्ष 1957 में ल्यू मिंग य्वान ने चीनी युवा संगीतकार के रूप में छठे विश्व युवा कला समारोह की जातीय वादन प्रतियोगिता में भाग लेकर स्वर्ण पदक हासिल किया । पहले तीस वर्षों में चीनी जातीय संगीत के व्यवहारिक अध्ययन से ल्यू मिंग य्वान ने संगीत कला की मजबूत बुनियाद डाली और उन का कला स्तर पराकाष्टा पर पहुंच गया था ।

लम्बे अरसे में विभिन्न शैलियों के ऑपेरा तथा स्थानीय संगीत दलों के साथ सहयोग के दौरान ल्यू मिंग य्वान ने अपनी विशेष संगीत शैली बनायी । तंतुवाद्य बजाने के अलावा ल्यू मिंग य्वान प्यानो बजाने में भी निपुण थे । उन्होंने विशेष तौर पर मंगोल जाति के लोकगीत सीखे और उन की मंगोल जातीय लोकगीतों की प्रस्तुतियां भी बहुत आकर्षक और मनमोहक थीं । ल्यू मिंग य्वान द्वारा जातीय वाद्यों से बजायी गयी धुनों में《खुशी खुशी》,《सुन्हरा वर्ष》,《ह नान प्रांत की धुन》,《घास मैदान में》तथा《चरवाहे की घर वापसी 》आदि सब से लोकप्रिय है ।

ल्यू मिंग य्वान ने वाद्य यंत्रों के सुधार और संगीत के अध्यापन में भारी योगदान किया । गत शताब्दी के पचास वाले दशक में ल्यू मिंग य्वान संगीत प्रतिभाओं का प्रशिक्षण करने में जुट गए । वर्ष 1982 में वे चीनी संगीत कॉलेज के वादन विभाग के प्रोफ़ैसर बने और उन्हों ने बड़ी संख्या में संगीत प्रतिभाओं को प्रशिक्षिक किया। वर्ष 1996 के फ़रवरी में ल्यू मिंग य्वान का निधन हो गया ।

[ल्यू मिंग य्वान की वादन धुन]: 《सुन्हरा वर्ष》

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories