सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

चांग ये

2017-08-15 14:28:55
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चांग ये का जन्म चीन के हू नान प्रांत में हुआ । वर्तमान चीनी जातीय संगीत मंच में एक शक्तिशाली गायिका हैं । वर्ष 1991 में चांग ये चीनी संगीत कॉलेज के संगीत विभाग से स्नातक हुई , वे मशहूर चीनी संगीतकार चिंग थ्ये लिंग की शिष्य हैं , वर्ष 1995 में उन्होंने संगीत कला के एम.ए. की डिग्री हासिल की और अब चांग ये चीनी संगीत कॉलेज के संगीत विभाग की युवा अध्यापिका हैं ।

वर्ष 1988 में चांग ये ने चीनी राष्ट्रीय युवा गायक गायिका टी.वी. प्रतियोगिता में तीसरा स्थान और चीनी राष्ट्रीय श्रेष्ठ गायक गायिका प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक हासिल किया । वर्ष 1990 में पेइचिंग टी.वी. स्टेशन द्वारा आयोजित संगीत प्रतियोगिता में चांग ये ने श्रेष्ठ कलाकार का पुरस्कार प्राप्त किया , वर्ष 1992 में चीनी केंद्रीय रेडियो स्टेशन द्वारा आयोजित संगीत प्रतियोगिता में चांग ये को श्रेष्ठ कलाकार का दूसरा स्थान हासिल हुआ । वर्ष 1995 में चांग ये द्वारा चीनी केंद्रीय टी.वी.स्टेशन यानी सी.सी.टी.वी.के वसंत त्यौहार समारोह में प्रस्तुत गीत《शुभकामनाएं》को श्रेष्ठ प्रोग्राम का पुरस्कार हासिल हुआ । इसी वर्ष ही उन्होंने"स्वर्ण डिस्क"का पुरस्कार प्राप्त किया । चांग ये द्वारा गाये गये《तोंग च्यांग नदी का प्यारा पानी》को"चौथी एम.टी.वी. संगीत प्रतियोगिता"में रजत पदक और《नए काल में प्रवेश को "पांचवीं एम.टी.वी. संगीत प्रतियोगिता"में स्वर्ण पदक हासिल प्रदान किया गया ।

अपनी पढ़ाई व अभिनय जीवन में चांग ये ने नाटक《थांग बो हू और शङ च्यो न्यांग》, ऑपेरा नाटक《होंग हू झील का आत्मरक्षा दल》तथा《श्याओ अर्हे की शादी》में मुख्य पात्र की भूमिका निभाली । इन के अलावा, चांग ये ने अनेक फिल्मों व टी.वी. धारावाहिकों के लिए गीत गाये । चांग ये ने ब्रिटेन, फ़्रांस, स्विटजरलैंड, जर्मनी, स्वीडन, बेल्जियम, लग्सेम्बर्ग, जापान तथा दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों व चीन के हगां कांग व मकाओ आदि क्षेत्रों में कार्यक्रम प्रस्तुत किए , जिन्हें देशी विदेशी दर्शकों की ओर से खूब सराहना हासिल हुई।

चांग ये विभिन्न जातीय शैली के गीत गा सकती हैं । उन की आवाज़ बहुत मीठी ही नहीं , शुद्ध ,उत्साहित और मनमोहक भी है । संगीत टिप्पणीकारों का कहना है कि चांग ये का गायन पिघला हुए बर्फ का पानी स्वच्छ , मीठा , पारदर्शी और कलकल बहता हुआ लगता है , उन की आवाज वसंती बयार के साथ हल्की , मृद और उल्लास से उड़ती हुई रंगीन बादलों से गुजरती हुई कर्णप्रिय होती है ।

[चांग ये की आवाज में गीत]: 《नये युग में प्रवेश》

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories