सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

ल्यू जी होंग

2017-08-15 14:27:38
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

ल्यू जी होंग इधर के वर्षों से चीनी संगीत मंच में सक्रीय रहे मशहूर चीनी गायक हैं , जो देश के प्रथम राष्ट्रीय श्रेणी के कलाकार हैं और चीनी राज्य परिषद द्वारा प्रदत्त विशेष भत्ता पुरस्कार हासिल हुआ है ।

वर्ष 1982 में ल्यू जी होंग उत्तर पश्चिमी चीन के शेन शी प्रांत की राजधानी शी आन शहर के शीआन संगीत कॉलेज के संगीत विभाग से स्नातक हुए और इस के बाद उन्होंने कान सू प्रांत की राजधानी लान चो के नार्मल स्कूल के संगीत विभाग में पढ़ाते थे । वर्ष 1985 में ल्यू जी होंग कान सू नृत्य गान मंडली में दाखिल हुए और वर्ष 1989 में चीनी जन मुक्ति सेना की नौ सेना के अधीनस्थ नृत्य गान मंडली में प्रवेश कर गए । उन के अध्यापक थे मशहूर चीनी संगीतकार प्रोफ़ैसर चिन थ्ये लिन ।

ल्यू जी होंग ने क्रमशः तीन बार कान सू प्रांत में आयोजित संगीत प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ गायक का पुरस्कार हासिल किया और"स्वर्ण ड्रैगन कप" राष्ट्रीय संगीत प्रतियोगिता में रजत पदक हासिल किया । वर्ष 1992 में चीनी केंद्रीय टी.वी.स्टेशन यानी सी.सी.टी.वी. द्वारा आयोजित पांचवें चीनी युवा गायक प्रतियोगिता में रजत पदक प्राप्त किया और उसी वर्ष ही उन्होंने चीनी जन मुक्ती सेना द्वारा आयोजित छठे सांस्कृतिक व कका समारोह में सर्वश्रेष्ठ गायक का पुरस्कार हासिल किया । वर्ष 1995 में आयोजित रेडियो संगीत प्रतियोगिता में ल्यू जी होंग ने एक बार फिर सरकार द्वारा प्रदत्त स्वर्ण पदक हासिल किया ।

संगीत प्रतियोगिताओं में पुरस्कार हासिल करने के अलावा, ल्यू जी होंग ने《यांग परिवार के वीर यौद्धा 》、《तीन राज्यों की कहानी》、《थांग राजवंश का मिंग ह्वांग सम्राट 》、《 पटरानी यांग क्वेई फ़ेई》तथा《हान राजवेश का सम्राट वू ती 》आदि टी.वी.धारावाहिकों में मुख्य व पाश्य गीत गाये । ल्यू जी होंग की आवाज में प्रस्तुत《 फिर मिलेंगे, ता ब्ये पर्वत 》、

《सछ्वान में वापस 》तथा《मां का गीत》आदि गीत देश भर में बहुत लोकप्रिय रहे हैं । उन के गायन में बहुत जोशीला शैली व्क्य हुई है और वे विभिन्न जातियों की गायन शैली से गीत गा सकते हैं । उन्होंने ओपेरा नाटक《लाल मूंगा 》के प्रमुख नायक का सफलतापूर्वक अभिनेय किया , जो उत्साहित और यौवन से भरपूर है । उन्हों ने अनेकों बार सी.सी.टी.वी तथा विभिन्न स्थानीय टी.वी.स्टेशनों द्वारा आयोजित सांस्कृतिक समारोहों में भाग लिया ।

वर्ष 2001 में आयोजित राष्ट्रीय एम.टी.वी. संगीत प्रतियोगिता में ल्यू जी होंग, थोंग थ्ये शीन तथा येन वेइ वन द्वारा संयुक्त रूप से प्रदर्शित《चीन का मार्च गीत》को स्वर्ण पदक प्रदान किया गया । वर्ष 2003 में ल्यू जी होंग ने दूसरे चीनी"स्वर्ण डिस्क पुरस्कार"में स्वर्ण पदक हासिल किया ।

ल्यू जी होंग ने अनेक बार चीन और चीनी सेना की ओर से जर्मनी, रूस, फिलिपाईन, थाईलैंड और अमरीका आदि देशों की यात्रा की , वहां उन के कला प्रदर्शन को विदेशी दर्शकों की मान्यता व सराहना हासिल हुई ।

[ल्यू जी होंग की आवाज में गीत]: 《देश शक्तिशाली, जनता अमनचैन में》

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories