सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

अल्पसंख्यक जातीय चिकित्सा पद्धति

2017-08-15 16:39:49
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीनी परंपरागत चिकित्सा पद्धति में हान जाति की परंपरागत चिकित्सा पद्धति के अतिरिक्त दूसरी अल्पसंख्यक जातियों की चिकित्सा पद्धति भी शामिल है । चीन की विभिन्न अल्पसंख्यक जातियों के विकास के चलते उन की अपनी अपनी भौगोलिक व सांस्कृतिक विशेषताओं के अनुकूल परंपरागत चिकित्सा पद्धति का विकास हुआ , जैसे तिब्बत जाति , मंगोलिया जाति , वेइवूर जाति , कोरिया जाति, च्वांग जाति , थाइ जाति , ई जाति और उन के अतिरिक्त म्याऔ जाति , लाखू जाति व अलूनच्वन जाति आदि सब की अपनी अपनी परंपरागत चिकित्सा पद्धति है ।

चीन में विभिन्न अल्पसंख्यक जातियों की ऐतिहासिक व सांस्कृतिक भिन्नताओं के कारण उन की परंपरागत चिकित्सा पद्धति की भी अलग अलग विकास स्थितियां हैं । कुछ जातियों की परंपरागत चिकित्सा पद्धति में इलाज के तरीकों के अलावा विशेषतापूर्ण परंपराएं भी उपलब्ध हैं । कुछ जातियों की परंपरागत चिकित्सा पद्धति में सिर्फ चिकित्सा संबंधी पुस्तकें सुरक्षित हैं जिन का संशोधन आज भी किया जा रहा है । और कुछ जातियों की परंपरागत चिकित्सा पद्धति में सिर्फ कुछ इलाज के तरीके सुरक्षित बचे हैं ।

कुछ जातियों की परंपरागत चिकित्सा पद्धति में चीन की हान जाति के अलावा विश्व के दूसरे देशों की चिकित्सा पद्धति से कुछ सीखा गया था । मिसाल के तौर पर तिब्बत जाति की परंपरागत चिकित्सा पद्धति ने चीनी हान जाति के अलावा प्राचीन भारत की चिकिस्ता पद्धति से भी कुछ सीखा था । मंगोलिया जाति की परंपरागत चिकित्सा पद्धति ने चीनी हान जाति के अलावा तिब्बत जाति तथा रूस से भी बहुत कुछ सीखा था ।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories