सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

नाटककार ली यू

2017-08-15 17:00:30
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन के कई हजार वर्ष पुराने साहित्य इतिहास में बड़ी संख्या में मशहूर कवि ,नाटककार व उपन्यासकार उभरे थे ,पर ऐसे व्यक्ति बहुत कम थे , जो नाटककार के साथ नाटक निर्देशक नाटक शास्त्री और उपन्यासकार भी थे । लू यू ऐसे दुर्लभ साहित्यकारों में से एक थे ।

ली यू का जन्म वर्ष 1610 में और देहांत वर्ष1680 में हुआ । इस काल में मिंग राजवंश का अंत हुआ था और छिंग राजवंश की शुरूआत हुई थी ।कहा जा सकता है कि लू यी समाज की बहुत उथल पुथल जमाने में जीवन बिताते थे ।

बचपन से ही ली यू को परंपरागत कम्फ्युसेस शास्त्र की शिक्षा मिली । शुरू शुरू में वे सरकारी पदों के लिए परम्परागत परीक्षा में भाग लेने के जरिय सरकारी औहदा पाना चाहते थे ।उन्होंने कई बार इस किस्म की परीक्षा में भी हिस्सा लिया ,पर वे विफल रहे ।इस के बाद अपनी इस कोशिश को छोड़ कर उन्होंने एक पुस्तक दुकान खोली और पुस्तक प्रकाशन के व्यवसाय से जीवनयापन करने लगे । इस दौरान वे ओपेरा नाटक रचना में संलग्न हुए ।

ली यू ने ओपेरा नाटक लेखन और नाटक शास्त्र के अध्ययन में बड़ी उपलब्धियां प्राप्त कीं । उन्हों ने जीवन भर में अनेक ओपेरा नाटक लिखे ,किन्तु अब तक महज दस बचे हैं । इन नाटक का कथानक मुख्य तौर पर प्रेम पर आधारित था ,जो यथार्थ जीवन से घनिष्ठ रूप से जुड़े था । नाटकों में युवा व युवती में अपने प्रेम व विवाह की आस तथा साहस का गुणगान था ।उन नाटकों की कहानियां आकर्षक और भाषा विनोदपूर्ण थी ,जो मंचन के योग्य थी ।लू यू के ओपेरा नाटकों में मनोरंजन के साथ तत्कालीन समाज की गंभीर समस्याओं की अभिव्यक्ति थी , खास कर सामंती उच्च नीच वर्ग विचारधारा तथा जबरदस्ती शादी ब्याह व्यवस्था की आलोचना की गई थी , जिस से तत्कालीन लोगों का खूब स्वागत मिला था और जापान समेत पूर्वी व दक्षिण पूर्वी देशों में भी लोकप्रिय थे ।अब तक उन के कुछ ओपेरा चीन के परम्परागत ओपेरा मंच पर प्रस्तुत होते हैं ।

ली यू ने न सिर्फ अनेक नाटक लिखे ,बल्कि उन्होंने अपनी नाटक मंडली का भी गठन किया ।वे अकसर कला निर्देशक का काम भी करते थे और कभी कभी किसी पात्र के रूप में खुद अभिनय भी करते थे ।ली यू बीस से ज्यादा सालों तक अपनी नाटक मंडली को लेकर चीन के विभिन्न प्रांतों में प्रस्तुति करते रहे थे ।

लम्बे अरसे से ओपेरा नाटकों के लेखन और प्रदर्शन से ली यू ने ओपेरा नाट्य शास्त्र में भी समृद्ध अनुभव संजोए हुए थे और नाट्य शास्त्र के सिद्धांत के अध्ययन में बड़ी उपलब्धियां भी प्राप्त हुई थी ।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories