सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

चीन के थांग राजकाल की शानदार कविताएं

2017-08-15 16:58:57
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

थांग राजवंश चीनी इतिहास में एक महत्वपर्ण राजवंश है ।इस काल में आर्थिक समृद्धि व सामजाकि स्थिरता लंबे समय तक बनी रही और साहित्य कला क्षेत्र में भी अतूल्य शानदार उपलब्धियां प्राप्त हुईं , जो चीन के प्राचीन कविता इतिहास में चोटी के स्तर पर पहुंचीं । कविता थांग राजवंश में सामाजिक व सांस्कृतिक जीवन के मुख्य विष्यों में से एक बन गया थी ।अब तक चीन में सुरक्षित थांग राजवंश के कविता संग्रह में 2300से अधिक कवियों की लगभग पचास हजार कविताएं शामिल हैं ।

समय की दृष्टि से थांग राजवंश की कविता का विकास चार चरणों प्रारंभिक , स्वर्ण , माध्यम तथा उत्तर में बांटा जा सकता है ।

प्रारंभिक काल वर्ष 618 से वर्ष 712 तक था ।इस साल में वांग पो ,यांग चुंग ,लू चो लिन व लो पिन वांग चार श्रेष्ठ कवि पैदा हुए ,जिन्होंने ल्यु श छंद की कविता विधि (एक कविता में 8 वाक्य और एक वाक्य में पांच या सात चीनी अक्षर हैं ,जिस के छंद के कड़े नियम होते हैं ) को नियमबद्ध बना कर चीन की ल्यु श कविता शैली का आधार तैयार किया ।इस से थांग राजवंश की कविताओं की एक नयी विशेषता बन गयी ।उन की कोशिशों से कविताओं की विषयवस्तु भी पहले से अधिक विस्तृत हो गई और जन साधारण से जुड़ भी गई । कवि छन जी आन इस काल के मशहूर कवि भी थे ।उन्होंने कविता के जरिय यथार्थ जीवन प्रतिव्यक्त करने का आह्वान किया ,जिस ने थांग राजवंश में कविता के विकास का रास्त प्रशस्त कर दिया ।

स्वर्ण काल वर्ष 712 से वर्ष 762 तक ।इस काल के कविता सृजन में चीन के इतिहास में सब से बड़ी उपलब्धियां प्राप्त हुईं थी ।इस काल की कविताओं की विषयवस्तु विविध और समृद्ध थी और शैलियां भिन्न भिन्न भी । कोई प्रकृति की सुंदरता का वर्णन करता था और कोई सीमांत क्षेत्र में सेना के जीवन का वर्णन करता था , तो कोई वीरता का गुणगान करता था और व्यक्तिगत जीवन पर उद्गा करता था ।व्यापक कवियों को रोमानी व खुले माहौल में लिखने की पूरी स्वतंत्रता मिली ।इस काल में ली पाई ,तू फू ,वांग वेइ ,मंग हो यान ,को शी और छन शिन जैसे अनेक मशहूर कवि उभरे ,जिन में से ली पाई और तू फू उन के सब से श्रेष्ठ प्रतिनिधि थे ।

माध्यम काल वर्ष 762 से वर्ष 827 तक था । इस काल में सब से मशहूर कवि पाइ चू यी ,य्वान चन और ली ह थे ।पाइ चू यी व्यंग्य आलंकार की कविता रचने में मशहूर थे ।उन्होंने अपनी कविताओं में क्रूरतापूर्ण कर वसूली व्यवस्था , अन्तरहित युद्धों और भ्रष्टाचार अधिकारियों की आलोचना की । उन की कविताओं की भाषा सुबौध और सजीव थी ,जिन को व्यापक लोगों का प्यार मिला ।ली ह ने इस संसार में सिर्फ बीसेक साल बिताया था ,पर उन्होंने बडी संख्या में रोमानी कविताएं लिखीं ।उन की कल्पना असीम और अनोखी थी और शैली भी अलग पहचान की बनी थी तथा शब्दालंकार अत्यन्त सुन्दर और मोहक था ।

थांग राजवंश के कविता के विकास का उत्तर काल वर्ष 827 से वर्ष 859 तक था । कवियों में से ली शांग यिन और तू मू सब से सक्रिय रहे । उन की कविताओं में राजनीतिक जीवन से निराशा या आशा की भावना अभिव्यक्त होती थी और जीवन की दुखद आपबीति का होता था ।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories