सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

मकाओ गुफा की खुदाई का रहस्य

2017-08-15 16:50:55
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

उत्तर पश्चिम चीन की तुनहुङ जिले में स्थित मकाओ गुफा समूह विश्व में अब तक सुरक्षित सब से विशाल और अखंड बौध धर्म का अवशेष है । विश्वविख्यात मकाओ गुफा समूह उत्तर पश्चिमी चीन के रेगिस्तान क्षेत्र में सीधी खड़ी पर्वती चट्टानों पर बनाई गई हैं , इस के पीछे क्या रहस्य हो सकता है ?

कहा जाता है कि मकाओ गुफा का निर्माण स्थल ल्ये चुन नाम के एक बौद्ध भिक्षु द्वारा निश्चित किया गया था । ईसा 366 में बौद्ध भिक्षु ल्ये चुन जब तुन हुङ जिले के सानवी पहाड़ की तलहटी पहुंचे , तो वक्त संध्या की वेली था , विश्राम के लिए वहां कोई जगह नहीं थी , वह मन में सोच रहा था , इसी बीच उस की निगाह उठी , तो निगाह के आगे खड़े मिन शा पर्वत चोटी पर सुनहरी किरणें फूटने लगी , मानो हजारों बुद्ध महात्मा किरणों से दिव्यदृष्ट हो रहे हो । बड़े आश्चार्य का दृश्य था , भिक्षु ल्ये चुन एकदम मनमुग्ध हो गया, मन ही मन सोचा कि यह निश्चय ही एक तीर्थ स्थान है । ल्ये चुन ने इस पवित्र स्थान में बुद्ध गुफा खोदने का निश्चय किया , उस ने बड़ी संख्या में कारीगरों को बुला कर गुफा का निर्माण काम आरंभ किया , गुफा खोदने का काम विस्तृत होता चला गया और थांग राजवंश के समय तक यहां एक हजार से ज्यादा गुफाएं खोदी जा चुकी थीं ।

विशेषज्ञों के लम्बे समय के अनुसंधान के अनुसार मकाओ गुफा खोदने का काम वैसा संयोग से नहीं हुआ था , उस के निर्माण में प्राचीन चीनियों की बुद्धिमता और परिश्रम की अभिव्यक्ति हुई है । गुफा समूह का स्थल इसलिए रेगिस्तान के नख्लिस्थान के बीच चुना गया था कि जिस से बौध धर्म के जगजीवन से अलग रहने तथा प्रकृति से मिलजुल हो जाने की विचारधारा अभिव्यक्त हुई है । मकाओ गुफा नदी के तट पर खड़े पर्वत पर बनाई गई हैं , गुफा के आगे यानछ्वान नदी की जल राशि से आसपास के पेड़ सिंचित हैं , प्राकृतिक प्रयावरण बहुत स्वच्छ , शांत और मनोहर है । मकाओ गुफाएं मधुमक्खी छत्ता की भांति पंक्तिबद्ध होती हैं , ऊंची से ऊंची 40 मीटर है ।शीत मौसम में रेतीली तूफान मुख्यतः गुफा की पीछे ओर पश्चिम से आता है , जो गुफा के ऊपर से गुजरता है , जिस से गुफा को जरा भी क्षति नहीं पहुंच सकती। ग्रीष्म दिनों पूर्व से वायु आ रहा है , उसे मकाओ गुफा के सामने खड़े सान वी पहाड़ से रोका जाता है , इस से गुफा को सीधा नुकसान नहीं पहुंचता है । इस प्रकार की बेहतर प्राकृतिक स्थिति में मकाओ गुफा रेगिस्तान में बचे सब से सुरक्षित स्थान में अवस्थित है ।

उपरोक्त कारणों से मकाओ गुफा हजार से ज्यादा सालों के कालांतर में भी क्षति से बच गई , जहां चीन के 11 राजवंशों में निर्मित हुए 492 गुफाएं तथा बड़ी मात्रा में भित्ति चित्र और बुद्ध मुर्तियां अच्छी तरह सुरक्षित हैं और विश्व के लिए अमोल सांस्कृतिक अवशेष छोड़ कर रखा गया है ।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories