सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

फ़ा विचार पद्धति के रचक हेन फेईत्ज़

2017-08-15 17:11:40
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

हेन फेईत्ज़चीन के युद्धरत काल(ईसापूर्व 475 से ईसापूर्व 221) के दौरान के मशहूर दर्शनशास्त्री और फ़ा विचार पद्धति के रचनाकार व लेखक थे। उन के द्वारा रचित फ़ा विचार पद्धति ने चीन के प्रथम एकीकृत केंद्रीय प्रशासनिक साम्राज्य की स्थापना के लिए विचारधारा का आधार प्रदान किया था।

हेन फेईत्ज़ का जन्म ईसापूर्व तीसरी शताब्दी में हुआ था, वे युद्धरत काल के अंतिम दिनों के हेन राज्य के सामंती ठाकुर थे। वे बहुत बातूनी नहीं थे, लेकिन, बहुत अच्छे लेखक थे।

उस वक्त, हेन राज्य की शक्ति दिन ब दिन कमजोर होती जा रही थी। हेन फेईत्ज़ ने अनेक बार देशभक्ति के दृष्टिकोण से हेन के राजा को पत्र भेजकर सहायता करने का सुझाव दिया। लेकिन, तत्कालीन हेन के राजा ने उस के सुझावों को स्वीकार नहीं किया। हेन फेईत्ज़ ने ऐतिहासिक अनुभवों और यथार्थ समाज स्थिति के अनुसार, वू दू, गू फ़न, नेई वेई छ्वू श्वो, श्वो लिन और श्वो नेन नामक पुस्तकें लिखीं और इन पुस्तकों को "हेन फेईत्ज़" नामक संग्रह में इकट्ठा किया गया। "हेन फेईत्ज़" संग्रह में कुल एक लाख से ज्यादा शब्द थे। उन के इन लेखों को हेन राज्य में महत्व नहीं दिया गया, लेकिन, शक्तिशाली छिन राज्य में इन का काफी सम्मान हुआ। "छिन शी ह्वांग" हेन फेईत्ज़संग्रह को बहुत पसंद करते थे। बाद में छिन शी ह्वांग ने हेन राज्य पर आक्रमण किया। हेन के राजा ने हेन फेईत्ज़को दूत की हैसियत से छिन भेजा। छिन के राजा छिन शी ह्वांग ने उन्हें अपना अधिकारी बनाना चाहा। तत्कालीन छिन राज्य का प्रधान मंत्री ली सी हेन फेईत्ज़ का सहपाठी रहा था। और उसे पता था कि हेन फेईत्ज़ उस से अधिक बुद्धिमान और श्रेष्ठ है। इसलिए, ली सी ने ईष्यविश छिन शी ह्वांग से हेन की बुराई की छिन शी ह्वांग ली सी की बातें सुनकर क्रोध में आ गया और हेन फेईत्ज़को जेल में डाल दिया और जहर दो कर उसे मार डाला।

हेन फेईत्ज़का प्रमुख शास्त्र "हेन फेईत्ज़ संग्रह" छिन साम्राज्य से पहले फ़ा विचार पद्धति का एक मशहूर काम था। आज इस संग्रह के 55 लेख अभी भी मौजूद हैं। इस संग्रह में अधिकांश लेख हेन फेईत्ज़ने खुद लिखे थे। उस समय, चीनी विचार पद्धतियों में कन्फ्यूशियस और मो विचार पद्धति सब से ज्यादा प्रचलित थीं, और फ़ा श्येन राजा और रुढिवादिता की पक्षधर थीं। हेन फेईत्ज़की फ़ा विचार पद्धति पुराने समय का पुनरुत्थान करने के विचार का दृढ़ विरोध करती थी। हेन फेईत्ज़ने रन एई कन्फ्यूशर्स की विचार पद्धति पर प्रहार भी किया और कहा कि प्रशासकों को कानून के अनुसार राज्य का प्रशासन करना चाहिए। उन का मानना था कि लोगों को भारी इनाम व सज़ा देना और कृषि व लड़ाई को महत्व देना चाहिए। उन के अनुसार, राजा जन्म से ही राजा है। छिन साम्राज्य के बाद, हेन फेईत्ज़की विचार पद्धति का भारी प्रभाव पड़ा।

हेन फेईत्ज़के लेखों में परिपक्वता और गंभीरता दिखाई पड़ती है। उदाहरण के लिए, उन के वांग जडं नामक लेख में राजा के नष्ट होने के 47 कारण बताये गये हैं।

हेन फेईत्ज़के लेख साहसी व विनोदपूर्ण शब्दों से भरे होते थे। उन्होंने अनेक सरल प्रतीक कथाओं और प्रचुर ऐतिहासिक ज्ञान को उदाहरणों के रुप में इस्तेमाल किया और विविधतापूर्ण रुप से अपनी फ़ा विचार पद्धति और समाज के जीवन के प्रति अपनी गहरी जानकारी को प्रतिबिंबित किया। उन के लेखों में अनेक प्रतीक कथाएं अभी भी चीनी लोगों की जुबान पर रहती हैं।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories