सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

जल पर्यावरण की स्थिति

2017-08-15 15:38:01
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन में भू-सतही जल संसाधन मुख्यतः देश के सात प्रमुख नद घाटी क्षेत्रों में केन्द्रित है , जो यांगत्सी नदी , पीली नदी , शुङहवाचांग नदी , ल्याओ ह नदी , चुचांग नदी , हाई ह नदी तथा ह्वेह नदी के नाम से मशहूर हैं । चीनी राष्ट्रीय पर्यावरण संरक्षण ब्यूरो द्वारा जारी वर्ष 2003 की चीन की पर्यावरण गुणवत्ता स्थिति से जाहिर है कि चीन के इन सात प्रमुख नद घाटी क्षेत्रों में नदियों के पानी का प्रदूषण लगातार सुधर जा रहा है । वर्ष 2003 के आंकड़ों के अनुसार चीन में पहली से तीसरी श्रेणी तक की गुणवत्ता का जल संसाधन 37.7 प्रतिशत बन गया है , जबकि वर्ष 2001 में यह प्रतिशत 33.3 से कम था ।

चीन के सात प्रमुख नद घाटी क्षेत्रों में हाईह नदी तथा ल्याओह नदी का प्रदूषण सब से गंभीर है । सात नदी घाटी क्षेत्रों में जल के प्रमुख प्रदूषण तत्व पेट्रोल जैसे मिट्टी के तेल ,जैवी रसायन की आवश्यक औक्सीजन की मात्रा की कमी , एमोनिया नाइट्रोजन , पोटासियम पर्मांगनट ,पारा तथा वाष्पशील फेनॉल हैं । झीलों और जलश्यों में प्रमुख गंभीर प्रदूषण नाइट्रोजन और फस्फरस से होता है , जिस से पोषक तत्वों की मात्रा के जरूरी से ज्यादा होने की गंभीर समस्या बन गई है । दक्षिण पश्चिम चीन के युन्नान प्रांत में त्यांगछी झील में आवश्यकता से ज्यादा पोषक तत्वों की समस्या चुनौति की हालत में पड़ी है । चीन की तीसरी बड़ी झील थाई हु तथा पांचवी झील छाओ हु में हल्के स्तर की ज्यादा पोषकता की समस्या उत्पन्न् हुई है ।

चीन के अधिकांश शहरों और क्षेत्रों में भूमिगत जल संसाधन की गुणवत्ता प्रायः अच्छी है । आंशिक क्षेत्रों में थोड़ा प्रदूषण हुआ है और कुछ ही क्षेत्रों में प्रदूषण गंभीर है , जो मुख्यतः घनी जन संख्या और औद्योगिकीकरण का स्तर ऊंचा होने वाले शहरों में पाया जाता है । भूमिगत जल संसाधन का प्रदूषण नाइट्राट , सालनाइट्राट , एमोनिया नाइट्रोजन , लोह , मैगनियम , नाइट्रोजन और सालफेट की मात्रा ज्यादा होने से होता है ।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories