सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

वन्य संसाधन का संरक्षण

2017-08-15 15:44:55
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

पिछली शताब्दी के पचास वाले दशक से चीन ने विश्व में मानव निर्मित जंगलों के विकास में करिश्मा कर दिखाया है । वर्ष 1981 से 2002 तक देश भर में कृत्रिम रूप से कुल 39 अरब 80 करोड़ पेड़ लगाए गए । वर्तमान में चीन में कृत्रिम वनों का सुरक्षित क्षेत्रफल चार करोड़ 66 लाख 70 हजार हैक्टर तक पहुंचा , जो विश्व के कृत्रिम वनों के कुल क्षेत्रफल का 26 प्रतिशत बनता है , इस क्षेत्र में चीन विश्व के प्रथम स्थान पर है और देश की 16.55 प्रतिशत की भूमि पर वन आच्छादित होता है । वर्तमान में जहां पूरे विश्व में वन्य संसाधनों की मात्रा में निरंतर गिरावट आ रही है , वहां चीन में वनों के क्षेत्रफल और पेड़ों की संख्या दोनों में वृद्धि हो रही है , इस के कारण चीन संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण विभाग से विश्व के उन 15 देशों की सूची में शामिल किया गया है , जिस में जंगलें सर्वाधिक सुरक्षित होती है ।

वर्ष 1998 से 2001 तक चीनी की केन्द्रीय सरकार ने गरीब जन संख्या बहुल मध्य व पश्चिमी चीन में वन्य संसाधनों की रक्षा करने में 42 अरब 70 करोड़ य्वान की राशि लगायी , जिस का प्रयोग स्थानीय किसानों को भत्ता देने तथा उन्हें हद से ज्यादा खेतीयुक्त बनाई गई भूमि को पुनः जंगल और घास मैदान में बदलने के लिए प्रोत्साहित करने में किया जाता है । अब चीन के 25 प्रांतों , स्वायत्त प्रदेशों तथा केन्द्र शासित शहरों में खेतों को पुनः वन्य रूप लौटाया जाने की परियोजनाएं चल रही हैं । वर्ष 2002 तक पूरे चीन में कुल मिला कर 64 लाख 40 हजार हैक्टर खेतों को पुनः जंगल का रूप दिया जा चुका है , जिन में से 31 लाख 80 हजार हैक्टर पहले खेत थे और शेष 32 लाख 60 हजाह हैक्टर पहले बंजर पहाड़ और उजड़ हुई भूमि थे । इस तरह के निरंतर प्रयासों से चीन में खेतों को पुनः वन्य में बदलने के काम में उल्लेखनीय उपलब्धियां प्राप्त हुई है और कुछ क्षेत्रों में जल बहाव तथा मिट्टी कटाव पर काबू पाने में भी निश्चित स्तर पर सफलता मिली है ।वन्य संसाधनों के संरक्षण की दूसरी कोशिश वर्ष 1998 से शुरू हुई प्राकृतिक वन संरक्षण परियोजना है । इस परियोजना के तहत चीन ने देश भर में प्राकृतिक वृक्षों की कटाई पर रोक लगायी , बहुत से क्षेत्रों में अतीत के वृक्ष कटाई मजदूर अब वृक्ष संरक्षण मजदूर के रूप में नियुक्त किए गए ।

चीन की वन्य निरंतर विकास की रणानीतिक अनुसंधान रिपोर्ट में प्रस्तुत लक्ष्य के मुताबिक वर्ष 2050 तक चीन में हरित जंगलें देश की 28 प्रतिशत की भूमि पर आच्छादित होगी ।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories