सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

वैज्ञानिक अनुसंधान संस्थान

2017-08-15 15:30:05
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

विश्व के अन्य देशों की तरह चीन के वैज्ञानिक अनुसंधान संस्थान मुख्य़तः स्वतंत्र रूप से स्थापित हुए हैं और उच्चशिक्षालयों या उद्योगों के अधीनस्थ हुए हैं । चीन के स्वतंत्र वैज्ञानिक अनुसंधान संस्थान मुख्यतः सरकार की सहायता पर आधारित हैं । वर्तमान चीन में स्वतंत्र वैज्ञानिक अनुसंधान संस्थानों की संख्या दो हजार से ज्यादा है , जिन में करीब पांच सौ राष्ट्रीय स्तर के संस्थान हैं , जबकि उच्चशिक्षालयों और उद्योगों के अधीनस्थ वैज्ञानिक अनुसंधान संस्थानों की संख्या बहुत ही ज्यादा है।

चीन के वैज्ञानिक अनुसंधान संस्थान बुनियादी विज्ञान अनुसंधान , उपयोगी विज्ञान अनुसंधान तथा सामाजिक कल्याण से जुड़े वैज्ञानिक अनुसंधान तीन मुख्य किस्मों के होते हैं । बुनियादी विज्ञान पर अनुसंधान करने वाले संस्थान बहुधा चीनी विज्ञान अकादमी तथा उच्चशिक्षालयों के तहत कार्यरत अनुसंधान संस्थान हैं । उपयोगी विज्ञान पर अनुसंधान करने वाले संस्थान अतीत में देश के विभिन्न औद्योगिक विभागों के अधीनस्थ थे , किन्तु अब वे प्रायः उच्च व नव तकनीक कारोबार के रूप में विकसित हुए हैं , जैसे चीनी अलोह धातु अनुसंधान प्रतिष्ठान , चीनी डाक तार विज्ञान अनुसंधान प्रतिष्ठान तथा चीनी भवन निर्माण डिजाइन प्रतिष्ठान आदि आदि । सामाजिक कल्याण से जुड़े वैज्ञानिक अनुसंधान संस्थान में मुख्यतः कृषि और मैसम क्षेत्र में कार्यरत बुनियादी अनुसंधान करने व सामाजिक लाभ देने वाले संस्थान है, जैसा कि चीनी कृषि विज्ञान अकादमी , चीनी वन्य विज्ञान अकादमी तथा चीनी मौसम विज्ञान अनुसंधान प्रतिष्ठान आदि ।

चीनी विज्ञान अकादमी चीन का सब से मशहूर और सब से बड़ा विज्ञान अनुसंधान संस्थान है , जो वर्ष 1949 में स्थापित हुआ , जिस का मुख्यालय पेइचिंग में स्थित है । चीनी विज्ञान अकादमी के अनुसंधान विषयों में प्रकृति विज्ञान व नव व उच्च तकनीक शामिल हैं , इस के गणित व भौतिक शास्त्र , रसायन शास्त्र , जीव विज्ञान , भूगोल शास्त्र और तकनीक विज्ञान पांच प्रतिष्ठान हैं । अकादमी ने देश के विभिन्न स्थानों में 11 शाखाएं और 84 अनुसंधान प्रतिष्ठान स्थापित किए हैं , जिन में बीस हजार वैज्ञानिक काम कर रहे हैं । चीनी विज्ञान अकादमी में बड़ी संख्या में देश के चोटी के स्तर के अनुसंधान कार्यकर्ता इक्टठे हुए हैं , उस के अधिकांश प्रतिष्ठान देश के उच्चतम स्थर के हैं और कुछों का विश्व में भी खासा ऊंचा नाम है ।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories