सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

छन ई

2017-08-15 14:44:46
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

छन ई, 1958 से 1972 तक चीनी विदेश मंत्री

छन ई चीनी जन मुक्ति सेना के संस्थापकों व नेताओं में से एक थे। वे सैन्य विद्य और चीन लोक गणराज्य के माशल भी थे। नये चीन की स्थापना के बाद, छन ई ने क्रमशः चीनी राज्य परिषद के उप प्रधान मंत्री, विदेश मंत्री और सैनिक आयोग के उपाध्यक्ष का पद संभाला।

वर्ष 1958 से छन ई ने चीनी उप प्रधान मंत्री व विदेश मंत्री की हैसियत से स्वर्गीय चीनी नेता माओ त्से तुंग तथा चाओ एन लाई की विदेशी नीति की विचारधाराओं का सक्रिय कार्यावयन किया और नये चीन की दीर्घकालीन वैदेशिक रणनीतियों व उसूलों के निर्माण में भाग लिया और श्री चाओ एन लाई की सहायता करते हुए सिलसिलेवार महत्वपूर्ण विदेशी गतिविधियों में शरीक किया था। वर्ष 1952 के अक्तूबर में उन्होंने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के प्रतिनिधि मंडल के सदस्य के रुप में सोवियत संघ के 19वें प्रतिनिधि सम्मेलन में भाग लिया और स्तालिन से भेंटवार्ता की। वर्ष 1954 के अक्तूबर में उन्होंने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के प्रतिनिधि मंडल को लेकर जनवादी जर्मनी की यात्रा की और पोलैंड की यात्रा भी की। वर्ष 1955 के अप्रैल माह में छन ई ने चाओ एन लाई के प्रमुख सहायक के रुप में बांगदुंग के एशिया अफ्रीका सम्मेलन में भाग लिया। वर्ष 1958 के फरवरी माह में उन्होंने प्रथम बार उप प्रधान मंत्री व विदेश मंत्री की हैसियत से चाओ एन लाई के साथ या खुद प्रतिनिधि मंडल को ले कर बर्मा, भारत, नेपाल, कंबोडिया, मंगोलिया और अफगानिस्तान आदि देशों की यात्राएं कीं । यात्राओं के दौरान, चीन व नेपाल ने मैत्री संध व आर्थिक समझौते पर हस्ताक्षर किये । चीन व कंबोडिया ने मैत्री व एक दूसरे पर अनाक्रमण संधि पर हस्ताक्षर किये। चीन व मंगोलिया ने मैत्री व आपसी सहायता संधि पर हस्ताक्षर किये । चीन व अफगानिस्तान ने मैत्री व एक दूसरे पर अनाक्रमण संधि पर हस्ताक्षर किये।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories