सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

भू-संसाधन

2017-08-15 14:11:37
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन की विशाल भूमि है ,जिस में तरह तरह की प्राकृतिक संसाधन उपलब्ध हैं । खेत ,वन ,घास मैदान ,रेगिस्तान व समुद्री पुलिन सभी चीन में मिलते हैं । पर चीन में पहाड़ी क्षेत्रों का क्षेत्रफल मैदान से अधिक बड़ा है और खेतों के रकबे व वन क्षेत्रों का अनुपात कम है । विभिन्न किस्मों के भू संसाधान देश में असंतुलित रूप से फैले हैं । चीन में खेत मुख्य तौर पर पूर्वी चीन के मैदानों व बेसिनों में है ,जब कि वन्य क्षेत्र आम तौर पर उत्तर पूर्वी व दक्षिण पश्चिमी चीन के दूर दराज पहाड़ी क्षेत्रों में और अधिकांश घास मैदान भीतरी चीन के पठार व पहाड़ी क्षेत्रों में मिलते हैं ।

खेत

वर्तमान चीन में खेतों का कुल क्षेत्रफल 12 लाख 70 हजार वर्गकिलोमीटर है ,जिन में से 28.4 प्रतिशत पूर्वी व पश्चिमी चीन में स्थित हैं और 43.2 प्रतिशत मध्य चीन में उपलब्ध हैं । चीन के अधिकांश खेत उत्तर पूर्वी चीन मैदान ,उत्तरी चीन मैदान ,यांगत्सी नदी के मध्य व निचले भाग का मैदान ,पर्ल नदी डेल्टा और सछवान बेसिन में स्थित है ।उत्तर पूर्वी चीन मैदान की भूमि काली उपजाऊ है ,जहां गेहूं ,मक्का ,बाजरा ,सोयाबीन ,जूट और चुकंदर उगते हैं । उत्तरी चीन मैदान में गेहूं ,मक्का ,बाजरा ,कपास व मंगफली की खेती होती है ।यांगत्सी नदी के मध्य व निचले भाग के मैदान में मुख्य तौर पर धान ,संतरा व सरसों पैदा होते हैं जबकि सछवान बेसिन में धान ,तोरी ,गन्ना ,चाय ,संतरा व मौसमी और इत्यादि उगते हैं ।

वन

चीन में वनों का कुल क्षेत्रफल 15 करोड 89 लाख 40 हजार हैक्टर है ।चीन की 16.55 प्रतिशत भूमि में वन उगते हैं ,जो विश्व की औसत दर 30.8 प्रतिशत की तूलना में बहुत कम माना जाता है ।चीन के अधिकांश प्राकृतिक वन उत्तर पूर्वी व दक्षिण पश्चिमी भागों में उपलब्ध होता है ,जबकि पूर्वी व उत्तर पश्चिमी चीन में वन बहुत कम है ।

चीन के वनों की किस्में बहुत ज्यादा हैं ।उदाहरण के लिए वृक्षों की किस्में 2800 से अधिक हैं ।दुर्लभ पेड़ों में गिन्कगो व मटेसक्वोया इत्यादि शामिल हैं । पर्यावरण संरक्षण व आर्थिक निर्माण की जरूरत पूरी करने के लिए चीन में लम्बे अरसे से बड़े पैमाने पर वनरोपण की गतिविधियां चलायी जा रहीं ।अब चीन में कृत्रिम रूप से रोपित वनों का क्षेत्रफल 3 करोड़ 37लाख 90 हजार हैक्टर है ,जो विश्व में सर्वाधिक है ।

चीन के मुख्य वन क्षेत्रों में उत्तर पूर्वी चीन का वन क्षेत्र ,दक्षिण पश्चिमी चीन का वन क्षेत्र और दक्षिण पूर्वी चीन का वन क्षेत्र शामिल हैं ।उत्तर पूर्वी और दक्षिण पश्चिमी चीन का वन क्षेत्र क्रमशः चीन का पहला व दूसरा सब से बड़ा प्राकृतिक वन क्षेत्र है । दक्षिण पूर्वी चीन का वन क्षेत्र देश का सब से महत्वपूर्ण कृत्रिम रूप से रोपित वन क्षेत्र है ।इस के अलावा रेगिस्तान के फैलाव की रोकथाम के लिए चीन ने उत्तर पूर्वी चीन ,उत्तर चीन और उत्तर पश्चिमी चीन में वन्य रक्षा पट्टी परियोजना का निर्माण किया ,जिस की कुल लंबाई 7 हजार से अधिक किलोमीटर है और कुल क्षेत्रफल 26 करोड़ हैक्टर है ।इस वन्य रक्षा पट्टी को विश्व की सब से बड़ी पारिस्थितिकी परियोजना कही जाती है ।

घासमैदान :

चीन के घासमैदानों का कुल क्षेत्रफल 26 करोड़ 60 लाख 60 हजार हैक्टर है ,जो देश की कुल भूमि का 25 प्रतिशत है और विश्व में अग्रिम स्थान पर भी रहता है ।चीन के प्राकृतिक घासमान मुख्य तौर पर ताशिंग एनलिंग पहाड़ , येन शान पहाड़,छिंगहाइ तिब्बत पठार के पूर्व में स्थित पश्चिम व उत्तर चीन के विशाल क्षेत्रों में फैले हैं ।देश के कृत्रिम घासमैदान मुख्य तौर पर दक्षिण व पूर्वी चीन में स्थित है ।

चीन के मुख्य चरागाहों में भीतरी मंगोलिया चरागाह ,शिन चांग चरागाह ,छिंगहाइ चरागाह और तिब्बत चरागाह शामिल हैं ।भीतरी मंगोलिया चरागाह चीन का सब से बड़ा चरागाह है ।सानह नामक घोड़ा व सानह गाय बढिया नस्ल के पशु हैं । शिनचांग चरागाह के भेड़ बकरी व इली के घोड़ा देश में बहुत मशहूर हैं ।छिंगहाइ व तिब्बत चरागाहों का प्रमुख पशु याक है और देश विदेश में मशहूर छ्वुह नस्ल का घोड़ा है ।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories