सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

नदी

2017-08-15 14:09:09
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

चीन में बड़ी संख्या में नदियां बहती हैं ,जिन में से 1500 से अधिक नदियां ऐसी हैं , जिस हरेक का घाटी क्षेत्र 1000 वर्गकिलोमीटर के ऊपर है । देश में समुद्र में जा मिलने वाली नदियों के घाटी क्षेत्रों का कुल क्षेत्रफल चीन की थल भूमि का 64 प्रतिशत बनता है ।यांगत्सी नदी ,पीली नदी ,हेलोंगच्यांग नदी ,चु च्यांग नदी ,ल्यो ह नदी ,हाइ ह नदी व हुए ह नदी पूर्व की दिशा में बहती हुई प्रशांत महासागर में जा मिलती हैं । तिब्बत में बहती यालुज़ांगबू नदी , जो ब्रह्मपुत्र नदी का ऊपरी भाग है , चीन की सीमा से बाहर निकल कर हिंद महासागर में जा मिलती है ।इस नदी के किनारे विशाल यालुज़ांगबू घाटी विश्व की सब से बडी घाटी है ,जिस की गहराई 6009 मीटर है । शिनचांग में बहती अर्छिसी नदी अंत में उत्तर की ओर आर्कटिक महासागर में जा मिलती है ।चीन में अन्तर्स्थली नदियों के घाटी क्षेत्रों का क्षेत्रफल चीन की भूमि का 36 प्रतिशत है , जो आम तौर पर रेगिस्तान में खत्म जाती है ।

यांगत्सी नदी चीन की सब से बड़ी नदी है ,जिस की कुल लंबाई 6300 किलोमीटर है । वह अफ्रीका की नील और दक्षिण अमरीका की अमाजोन नदी के बाद विश्व की तीसरी बड़ी नदी है ।यांगत्सी नदी का ऊपरी भाग ऊंचे पहाड़ों और गहन घाटियों के बीच बहती है , इस से इस में प्रचुर जल-संसाधन निहित है ।यांगत्सी नदी पूर्वी और पश्चिमी चीन को जोड़ने वाला महत्वपूर्ण जल मार्ग भी है ।इसे गोल्दन मार्ग कहलाता है ।यांजत्सी नदी के मध्य व निचले भागों के क्षेत्रों में जलवायु के बेहतर होने और उपजाऊ भूमि के कारण वहां चीन के कृषि व उद्योग का अहम विकसित केन्द्र है ।

पीली नदी चीन की दूसरी बड़ी नदी है ,जिस की कुल लंबाई 5464 किलोमीटर है । पीली नदी का घाटी क्षेत्र चीनी राष्ट्र के हिन्दोड़ों में से एक है ।चीनी लोग उसे माता नदी पुकारते हैं ।

हेलोंगच्यांग नदी उत्तर चीन में एक अहम नदी है ,इस की कुल लंबाई 4350 किलोमीटर है ,जिस का 3101 किलोमीटर वाला भाग चीन से गुजरता है ।

चुच्यांग नदी यानी पर्ल नदी दक्षिण चीन की सब से बड़ी नदी है ,इस की कुल लंबाई 2214 किलोमीटर है ।

दक्षिण शिन्चांग में स्थित तारिम नदी चीन की सब से लंबी अनतर्थलीय नदी है ,जिस की लंबाई 2719 किलोमीटर है ।

प्राकृतिक नदियों के अलावा चीन में एक मशहूर निर्मित नदी है ,जिस का नाम है ता युन ह नहर । उस की खुदाई पांचवीं शताब्दी से शुरू हुई थी । वह उत्तर चीन के पेइचिंग और दक्षिण चीन के हांग चो को जोड़ देती है ।उस की कुल लंबाई 1801 किलोमीटर है ,जो विश्व में सब से लंबी और सब से पूरानी नहर है ।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories