सूचना:चाइना मीडिया ग्रुप में भर्ती

चीन के सुप्रसिद्ध स्थापत्य डिजाइनर

2017-08-15 15:10:36
शेयर
शेयर Close
Messenger Messenger Pinterest LinkedIn

ल्यांग शछङ

ल्यांग शछङ ( वर्ष 1901--1972) लम्बे अरसे से स्थापत्य कला का शिक्षा काम करते रहे थे ,जिन्हों ने स्थापत्य शिक्षा के लिए असाधारण योगदान किया ।

चीन के सुप्रसिद्ध स्थापत्य शास्त्री ल्यांग शछङ ने तीस वाले दशक से चीन के प्राचीन स्थापत्य कला में व्यवस्थित सर्वेक्षण और अनुसंधान का काम शुरू किया था , उन्हों ने चीन के प्राचीन स्थापत्य शास्त्र के बारे में ढेर सारे निबंध और रचनाएं लिखी थी , जिन का अत्यन्त ऊंचा विद्या मूल्य होता है ।

ल्यांग शछङ ने पेइचिंग शहर की नगरी निर्माण योजना और विभिन्न वास्तु निर्माणों की खाका बनाने में बहुत से महत्वपूर्ण सुझाव पेश किए थे और पेइचिंग शहर की नगरी निर्माण योजना बनाने के काम में हिस्सा लिया था ।उन्हों ने चीन के राष्ट्र-चिन्ह व जन वीर स्मारक तथा यांगचाओ शहर के च्यानजङ भिक्षु स्मृति भवन जैसे अहम निर्माणों के डिजाइन कामों में भाग लिया था और स्थापत्य की राष्ट्रीय शैली के अनुसंधान में योगदान किया था ।

वु ल्यांगयङ

चीन के सुप्रसिद्ध स्थापत्य विद्वान श्री वु ल्यांगयङ का जन्म वर्ष 1922 में हुआ , वे अन्तरराष्ट्रीय स्थापत्य संघ (UIA) के उपाध्यक्ष , विश्व मानव आवास सोसाइटी(WSE) के अध्यक्ष रह चुके थे । वे नए चीन के स्थापत्य निर्माण व नगरी निर्माण योजना के प्रवर्तकों में से एक है । उन्हों ने चीन के वास्तु निर्माण व नगरी निर्माण योजना के बारे में जो शिक्षा व्यवस्था बनायी और जो सुझाव पेश किए , उस ने चीनी विशेषता वाले स्थापत्य निर्माण व नगरी निर्माण खाका के बारे में शिक्षा व्यवस्था की स्थापना में अहम योगदान किया है । उन के द्वारा बनाए गए डिजाइन पर जो पेइचिंग की च्यु-अ गली के नई किस्म के चारदीवारी वाले रिहाइशी मकान की परियोजना पूरी की गई है , उसे संयुक्त राष्ट्र संघ का वर्ष 1992 का विश्व मानव आवास पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया है , इस के अलावा उसे एशियाई स्थापत्य संघ के सर्वश्रेष्ठ स्थापत्य डिजाइन का स्वर्ण पुरस्कार तथा चीनी वास्तु सोसाइटी का सर्वश्रेष्ठ स्थापत्य कृति पुरस्कार भी मिले है ।उन के तत्वावधान में राष्ट्रीय प्राकृतिक विज्ञान कोष के अहम मुद्दे-- विकसित क्षेत्र की शहरीकरण प्रक्रिया में पर्यावरण संरक्षण व विकास पर किए गए अनुसंधान काम अग्रिम अन्तरराष्ट्रीय स्तर वाले अहम वैज्ञानिक अनुसंधान की उपलब्धि के लिए चुना गया ।

चांग खाईजी

श्री चांग खाईजी नए चीन की स्थापना के बाद प्रशिक्षित नई पीढि के स्थापत्य डिजाइनर है , जिस का जन्म वर्ष 1912 में शांगहाई शहर में हुआ , वर्ष 1935 में वे नानचिंग के केन्द्रीय विश्वविद्यालय के स्थापत्य विभाग से स्नातक हुए और पेइचिंग के स्थापत्य डिजाइन प्रतिष्ठान के जनरल डिजाइनर , पेइचिंग म्युनिसिपल सरकार के स्थापत्य सलाहकार तथा चीनी स्थापत्य सोसाइटी के उपाध्यक्ष रह चुके हैं । वर्ष 1990 में चीनी निर्माण मंत्रालय ने उन्हें स्थापत्य डिजाइन मास्टर की उपाधि प्रदान की गई । उन्हों ने थ्येनआनमन मंच के परेड दर्शक दीघा , क्रांतिकारी संग्रहालय , इतिहास संग्रहालय , थ्योयुथाई राष्ट्रीय अतिथि भवन तथा पेइचिंग के खगोल भवन जैसे अहम स्थापत्य निर्माणों का डिजाइन किया है ।

यांग थ्येङपो

यांग थ्येङ पो का जन्म वर्ष 1901 में हुआ और निधन वर्ष 1982 में । वर्ष 1921 में वे अमरीका में पढ़ने गये और अमरीका के पेनस्फोनिया युनिवर्सिटी के स्थापत्य विभाग में दाखिल हुए । वर्ष 1924 में उन्हें एमेर्सोन पुरस्कार प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार तथा अमरीकी म्युनिसिपल कला सोसाइटी की पुरस्कार प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार मिले ।

शेयर

सबसे लोकप्रिय

Related stories