अमेरिका के एकतरफ़ा जबरदस्ती कदम ने मानवाधिकार पर नकारात्मक प्रभाव डाला

2021-09-17 19:20:00

अमेरिका के एकतरफ़ा जबरदस्ती कदम ने मानवाधिकार पर नकारात्मक प्रभाव डाला_fororder_bi-2

स्थानीय समयानुसार 16 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 48वें सम्मेलन में एकतरफ़ा जबरदस्ती कदम से जुड़ी द्विवार्षिक संगोष्ठी आयोजित हुई। चीनी प्रतिनिधि ने कहा कि अमेरिका समेत पश्चिमी देशों द्वारा लागू किये गये एकतरफ़ा जबरदस्ती कदम ने मानवाधिकार पर गंभीर नकारात्मक प्रभाव डाला है।

उन्होंने कहा कि अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों ने घरेलू कानूनों के अनुसार एकतरफा जबरदस्ती के उपाय अपनाए हैं, लंबे समय तक अधिकार क्षेत्र का दुरुपयोग किया है, "रंग क्रांतियों" को उकसाया है, और अन्य देशों के शासन को उलट दिया है, संयुक्त राष्ट्र चार्टर के उद्देश्यों और सिद्धांतों का गंभीरता से उल्लंघन किया है, और गंभीरता से अंतर्राष्ट्रीय कानून में संप्रभु समानता और गैर-हस्तक्षेप के मौलिक सिद्धांत का उल्लंघन किया है, जो अंतर्राष्ट्रीय संबंधों का मूल मानदंड है। कोविड-19 महामारी के निरंतर फैलाव की पृष्ठभूमि में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को मिल-जुलकर सहयोग करके विभिन्न चुनौतियों का सामना करना चाहिये। अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों ने संबंधित देशों के खिलाफ एकतरफा जबरदस्ती के उपायों को समाप्त करने से इनकार कर दिया है, और उन्हें ज्यादा गंभीर भी किया है। उन्होंने बार-बार 'स्वतंत्रता, लोकतंत्र और मानवाधिकारों' की रक्षा के नाम पर नए प्रतिबंध लगाए हैं, अंतर्राष्ट्रीय महामारी विरोधी सहयोग को कमजोर कर दिया है।

चंद्रिमा

लोकप्रिय कार्यक्रम
रेडियो प्रोग्राम
रेडियो_fororder_banner-270x270